कैमूर में मिनी शराब फैक्ट्री का पुलिस ने किया उद्भेदन, कारोबारी मौके से फरार

कैमूर में मिनी शराब फैक्ट्री का पुलिस ने किया उद्भेदन, कारोबारी मौके से फरार

KAIMUR : मोहनिया पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर दादर पंचायत के सरियांव गांव में मुर्गी फार्म से देशी शराब बनाने वाली मिनी शराब फैक्ट्री का उद्भेदन किया है. तस्करों द्वारा कच्चा स्प्रिट के माध्यम से कलर डालकर ब्लू लाइन नामक देसी शराब का अवैध पैकिंग किया जा रहा था. गुप्त सूचना पर मोहनिया अंचलाधिकारी राजीव कुमार और थाना प्रभारी राम कल्याण यादव ने कार्रवाई किया. 

मोहनिया पुलिस को गुप्त सूचना मिली की सरियांव गांव के बाहर बने एक मुर्गी फार्म में अवैध शराब बनाने का काम चल रहा है. जिस मामले में तत्काल कार्रवाई करते हुए मोहनिया थाना अध्यक्ष और मजिस्ट्रेट के रूप में मोहनिया अंचलाधिकारी द्वारा संयुक्त रूप से छापेमारी की गई तो मुर्गी फार्म के अंदर से बड़े पैमाने पर देसी शराब बनाने के मामले में इस्तेमाल किए जाने वाले स्प्रिट,शराब के बोतलें,ब्लू लाइन देसी कंपनी का स्टिकर सहित कई सामान जब्त किए गए हैं. शराब के साथ साथ पुलिस ने वहां से दो बाइक को भी जप्त किया है. मौके पर पुलिस के पहुंचने से पहले शराब बनाने और बेचने वाले सभी धंधेबाज फरार हो गए थे. 

मुर्गी फार्म से जब्त सभी सामान को पुलिस ट्रैक्टर से थाने ले आई.इस संबंध में मजिस्ट्रेट के तौर पर तैनात मोहनिया अंचलाधिकारी राजीव कुमार ने बताया कि गुप्त सूचना पर कार्रवाई हुई है. मुर्गी फार्म से भारी मात्रा में शराब के साथ बनाने का कई सामान भी जप्त किया गया है. वहीं थानाध्यक्ष राम कल्याण यादव ने बताया की शराब की अभी तक काउंटिंग नहीं हो पाई है. लेकिन 5 से 6 बोड़ा शराब है जो कि बनाकर डिलीवरी के लिए रखा हुआ था. अन्य शराब बनाने के सामान और कंपनी का रेपर बरामद हुआ है. उन्होंने कहा की इस पूरे मामले में मुर्गी फार्म को सील किया जा रहा है. आगे मामले की जांच चल रही है. 

कैमूर से देवब्रत की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News