कार्तिक पूर्णिमा पर पटना के घाटों पर उमड़े श्रद्धालु, सुरक्षा के बीच लोगों ने डुबकी लगाकर दान-पुण्य किया

कार्तिक पूर्णिमा पर पटना के घाटों पर उमड़े श्रद्धालु, सुरक्षा के बीच लोगों ने डुबकी लगाकर दान-पुण्य किया

पटना.... आज कार्तिक मास की पूर्णिमा तिथि है। इस दिन का हिन्दू धर्म में विशेष महत्व है। इस दिन किसी भी पवित्र नदी में स्नान करने से मनुष्य के सभी पाप धूल जाते हैं। मान्यता है कि इस दिन देवता अपनी दिवाली कार्तिक पूर्णिमा की रात को ही मनाते हैं, इसलिए यह सबसे महत्वपूर्ण दिनों में से एक है।  कार्तिक पूर्णिमा के दिन स्नान और दान को अधिक महत्व दिया जाता है। इस बीच पटना के गंगा घाटों पर भी श्रद्धालुओं की भीड़ देखी गई। घाटों पर कड़ी सुरक्षा के बीच लोगों ने आस्था की डुबकी लगाई। 

आज के दिन  सूर्योदय से पहले उठकर पवित्र गंगा नदी में स्‍नान करने के लिए कंगन घाट, काली घाटी, कलेक्ट्रियट घाट समेत अन्य घाटों पर लोग पहुंचे। इस दौरान सुरक्षा की खास व्यवस्था रही। छठ पूजा की तरह ही पटना के घाटों पर लोगों के आने का सिलसिला हर साल रहता है, लेकिन इस वर्ष कोरोना काल में छठ के समय भी प्रशासन स्तर पर एतिहात बरतने के आदेश दिए गए तो आज भी प्रशासन के गाइड लाइन के हिसाब से ही लोग आए। 


सोमवार को सुबह से ही गंगा नदीमें पुलिस पेट्रोलिंग या  एनडीआरएफ दल के अलावे अन्य कोई निजी नव का परिचालन नहीं होगा। नदी में बैरिकैडिंग कराई गई थी। साथ ही आपाताकाल के लए घाटों पर गोताखोरों एवं नाव की व्यवस्था सुनिश्चित की गई। 

महावीर मंदिर, पंचमुखी मंदिर बोरिंग रोड, शिव मंदिर,  कंगड़बाग, पंचरूपी मंदिर, राजवंशी नगर व अन्रू सभी मंदिरों में गाइड लाइन के साथ पूजा करने के लिए लोगों में सोशल डिस्टेसिंग का पालन कराया गया। 


Find Us on Facebook

Trending News