कटिहार कांग्रेस में बगावत, मांग नहीं माने जाने के बाद जिले के सभी प्रखंड अध्यक्षों ने दिया एक साथ इस्तीफा

कटिहार कांग्रेस में बगावत, मांग नहीं माने जाने के बाद जिले के सभी प्रखंड अध्यक्षों ने दिया एक साथ इस्तीफा

कटिहार... जिले की मनिहारी और प्राणपुर विधानसभा सीट से उम्मीदवार को बदले जाने की मांग अब जोर पकड़ने लगी है। जिले के प्रखंड अध्यक्षों ने बताया कि हमने केंद्र से लेकर प्रदेश नेतृत्व तक मांग की है और अगर हमारी मांगे नहीं मानी जाती है तो जिले के सभी प्रखंड अध्यक्ष एक साथ इस्तीफा दे रहे हैं। मनिहारी प्रखंड के अध्यक्ष बासकी यादव ने कहा कि संगठन में हमारी सुनी ही नहीं जाती है और अगर संगठन में हमारा मान-सम्मान नहीं होगा तो ऐसे संगठन में रहने का क्या फायदा है। प्रखंड के अध्यक्ष ने सामूहिक इस्तीफा का ऐलान करते हुए कहा कि प्राणपुर और मनिहारी में गलत प्रत्याशी खड़ा कर दिया गया है, जिससे चुनाव में सीट निकलना मुश्किल हो जाएगा। 

2019 के लोकसभा चुनाव में भी हुई थी अनदेखी

कांग्रेस प्रखंड अध्यक्ष मनिहारी में 2019 में लोकसभा चुनाव के दौरान सभी प्रखंड अध्यक्षों को दरकिनार कर दिया गया था। प्रखंड अध्यक्ष हमलोग थे और कार्यालय प्रभारी दूसरे लोग बने हुए थे, कितना के कहने के बाद भी किसी भी प्रखंड अध्यक्ष को मान-सम्मान नहीं दिया गया। अभी जो पर्यवेक्षक मनोज सिन्हा जी आए हुए थे उन्हें यह अवगत कराया गया कि मनिहारी विधानसभा में जो हमारे वर्तमान विधायक हैं, जिनको अभी टिकट मिला है उनका संगठन में किसी प्रकार की रूची नहीं है। वहीं प्राणपुर में भी संगठन की ओर से किसी और उम्मीदवार को टिकट देने की मांग की गई थी, ताकि सीट निकल सके।

मेहनत हमलोग करते हैं फिर भी हम दरकिनार किए जाते हैं

बूथ से लेकर प्रखंड अध्यक्ष हमलोग बनाते हैं और यहां तक कि सदस्यता अभियान में हम लोग की ओर से ही बनाया जाता है। इतनी मेहनत करने के बाद भी हमें दरकिनार कर दिया जाता है। मनिहारी में उम्मीदवार बदलने के लिए पत्र भी लिखा गया, लेकिन कोइ संज्ञान नही लिया गया। अगर संगठन का कोई मतलब नहीं होता है तो ऐसे पद पर बने रहना धिक्कार है हमारे लिए। उन्होंने कहा कि प्राणपुर और मनिहारी में उम्मीदवाार नहीं बदले जाएंगे तो हम सभी प्रखंड अध्यक्ष एक साथ इस्तीफा देते हैं। 


Find Us on Facebook

Trending News