अवैध संबंध के शक में पंचायत ने दी तुगलकी सजा, कार्रवाई करने के बजाए डीएसपी ने ये क्या कह दिया

अवैध संबंध के शक में पंचायत ने दी तुगलकी सजा, कार्रवाई करने के बजाए डीएसपी ने ये क्या कह दिया

कटिहार... जिले के कोढ़ा थाना क्षेत्र में एक पुरुष और महिला के बीच अवैध संबंध का शक  बताकर गांव के ही कुछ युवकों ने तुगलकी सजा देते हुए दोनों के सिर मुंडवाकर उनकी जमकर पिटाई कर दी। हालत तो यह थी कि दोनो पीड़ित फरियाद करते रहे कि उनके बीच ऐसी कोई बात नहीं है फिर लोगों ने उनके साथ दुव्र्यवहार करते हुए पूरे गांव के चक्कर लगवाए। इस बीच गांव में लोगों की खासी भीड़ लगी रही, लेकिन वहां मौजूद किसी ने भी इनकी फरियाद नहीं सुनी। वहीं जब इस पूरे मामले की जानकारी कटिहार के डीएसपी अमरकांत झा को दी गई तो वो बेतुका बयान देकर पल्ला झाड़ लिया। उनके बेतुके बयान से ये तो साफ हो गया कि क्षेत्र में कानून व्यवस्था किस हद तक सुदृढ़ होगी।

बताया जाता है कि जिले के कोढ़ा थाना क्षेत्र में एक महिला और पुरुष के बीच  अवैध संबंध के शक होने पर ग्रामीणों ने दोनो को पकड़ लिया। ग्रामीणों ने पहले तो दोनों को खूंटे से बांध दिया फिर सिर मुंडवाकर पूरे गांव में घुमाया। तमाशबीन बने लोगांे के बीच के महिला और पुरुष कोई गलत संबंध नहीं होने की फरियाद करते रहे। 

महिला के माने तो युवक खेत में मजदूरी का काम करता था और वह अपनी मजदूरी लेने आया था। जिस पर ग्रामीणों ने दोनों को पकड़ लिया और सामाजिक पंचायत के बाद तालिबानी फरमान सुनाते हुए खूंटे से बांध दिया। 

उधर पूरे मामले पर कटिहार अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अमरकांत झा ने मामले में संज्ञान लेने के बजाए वो पल्ला झाड़ने वाला बेतुका बयान देते नजर आए। उन्होंने कहा कि जिले में शिक्षा का अभाव है और आए दिन ऐसी घटना होती रहती है। मेरे संज्ञान में आया तो हम कार्रवाई करेंगे। 

वर्तमान में बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर रोजगार और शिक्षा पर सबसे अधिक बयानबाजी हो रही है। सभी दल इन दोनों को ही मुद्दा बनाकर चुनाव में जीत का दावा करते नजर आ रहे हैं। ऐसे में किसी शासकीय कर्मचारी का शिक्षा पर बयान देना राजनीतिक दावों को पोल खोलती है। 


Find Us on Facebook

Trending News