केंद्र और राज्य सरकार पर जमकर बरसे जीतनराम मांझी, लगाये कई गंभीर आरोप

केंद्र और राज्य सरकार पर जमकर बरसे जीतनराम मांझी, लगाये कई गंभीर आरोप

NAWADA : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी शनिवार को नवादा पहुंचे. इस मौके पर उन्होंने केंद्र और राज्य सरकार दोनों को निशाने पर लिया. नीतीश सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा की बिहार में दुष्कर्म की घटनाएं इतनी बढ़ गयी है की हमने इस मामले को लेकर जाना छोड़ दिया है. 

उन्होंने कहा की इस मामले में सरकार का जुमला है की कानून अपना काम करेगा. लेकिन पता नहीं चल रहा है की कितनों की इज्जत जाने के बाद कानून अपना काम करेगा. उन्होंने कहा की इस सरकार में लूट, हत्या, डकैती, बलात्कार की घटना हो रही है. गरीब मर रहे है. उनपर अत्याचार हो रहा है. 2020 में जनता इनको हटा देती है तो ऐसी घटनाओं पर रोक लग जाएगी. उन्होंने कहा की इनलोगों के रहते कानून-व्यवस्था ठीक नहीं होगा. इसका वजह है की बिहार में दो पहलू वाली सरकार है.

 इसका उदाहरण अभी तीन तलाक बिल मामले में देखने को मिला है. एक पूरब जा रहा है तो दूसरा पश्चिम जा रहा है. इन दोनों के बीच में जनता पिस रही है. उधर सपा सांसद आजम खान का बचाव करते हुए उन्होंने कहा की उन्होंने गलत लहजे में कुछ नहीं कहा है. लेकिन उसे गलत तरीके से प्रस्तुत किया जा रहा है. उन्हें इस्तीफा नहीं देना चाहिए, लेकिन माफ़ी मांग लेना चाहिए. 

जीतनराम मांझी ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा की यहाँ के लोगों को जाति-पाती में बांटकर उन्हें बहला-फुसलाकर वोट ले लिया जाता है. ये गरीब को समझना होगा. बाढ़ की बोलते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा की सरकार जानती है की उत्तर बिहार में बाढ़ आती है और दक्षिण बिहार में सुखाड़ की स्थिति होती है. 

इसके लिए सरकार को एडवांस प्लानिंग करनी चाहिए. उन्होंने कहा की नवादा को ओडीएफ घोषित किया जा चुका है. इसके बावजूद कई घरों में शौचालय नहीं बना है. जिन लोगों ने भी शौचालय बनवाया है. वह अपने पैसे से बनवाया है. सरकार की ओर से पैसा नहीं दिया गया है. 

नवादा से अमन की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News