भोजपुरी सिनेमा के बुरी हालत के लिए बिहार सरकार को जिम्मेदार मानते हैं खेसारी यादव, सीएम के लिए कह दी यह बड़ी बात

भोजपुरी सिनेमा के बुरी हालत के लिए बिहार सरकार को जिम्मेदार मानते हैं खेसारी यादव, सीएम के लिए कह दी यह बड़ी बात

PATNA : भोजपुरी सिनेमा की हालत बुरी है और  इसके लिए पूरी तरह से बिहार की राजनीति जिम्मेदार है। ऐसा मानना है भोजपुरी सुपर स्टार खेसारी लाल यादव का। खेसारी लाल यादव ने न्यूज4नेशन के साथ बातचीत में कहा कि बिहार में भोजपुरी सिनेमा को सिनेमा हॉल में जगह नहीं दी जाती है। जबकि दूसरे राज्यों में वहां की भाषाओं में बननेवाली फिल्म के साथ ऐसा नहीं होता है। महाराष्ट्र में हर सिनेमा हॉल में रोज एक शो मराठी फिल्म के लिए अनिवार्य कर दिया गया है,लेकिन बिहार में ऐसा नहीं है।

अपनी नई फिल्म लिट्टी चोखा के प्रमोशन के लिए पटना पहुंचे खेसारी लाल यादव ने कहा बिहार में सिनेमा हॉल को लेकर सरकार के पास कोई नीति नहीं है। आज यहां के सिनेमाघरों की क्या हालत है, यह बताने की जरुरत नहीं है। यहां इंटरटेनमेंट सरकार के विषय में शामिल नहीं है। ऐसे में भोजपुरी फिल्म को ऊपर उठाना मुश्किल है, जबतक सरकार की तरफ से कोई सहयोग नहीं मिले।

15 साल में नीतीश कुमार ने कुछ काम नहीं किया

खेसारी लाल यादव यहीं पर नहीं रूके। उन्होंने नीतीश सरकार के काम पर सवाल उठाते हुए कहा कि उन्होंने 15 साल में बिहार में रोजगार के लिए कोई काम नहीं किया। हम फिल्मों की शुटिंग के लिए दूसरे राज्य में जाते हैं, वहां सरकार को 60 – 70 लाख रूपए शुल्क के रूप में दे देते हैं। इसमें 5 हजार से अधिक लोगों को काम मिल जाता है। लेकिन हम बिहार में ऐसा नहीं कर सकते हैं, क्योंकि सरकार की तरफ से हमें किसी प्रकार की मदद नहीं मिलती है। खेसारी यादव ने कहा कि यहां की सुविधा बेहतर हो, इसके लिए कई बार सरकार से मांग की गई, लेकिन वह इसको लेकर गंभीर नहीं है। सिर्फ बेहतर सड़क और बिजली की सुविधा उपलब्ध कराने से काम नहीं चल जाएगा। इंदिरा आवास देकर काम नहीं चलेगा। इसकी जगह रोजगार देते तो उससे कमाई से कई लोग अपना आवास बना लेते।

नई फिल्म का किया प्रमोशन

खेसारी यादव ने इस दौरान अपनी नई फिल्म लिट्टी चोखा को लेकर बताया कि यह किसानों की समस्या को लेकर बनाई गई है, जिसे बेहद ही खूबसूरती के साथ प्रदर्शित किया जा रहा है। जो दर्शकों को बहुत पसंद आएगी।




Find Us on Facebook

Trending News