पीएम के मसले पर बैकफुट पर नहीं आयेंगे चिराग पासवान, खुद को बताया नरेन्द्र मोदी का हनुमान

पीएम के मसले पर बैकफुट पर नहीं आयेंगे चिराग पासवान, खुद को बताया नरेन्द्र मोदी का हनुमान

PATNA बिहार विधानसभा चुनाव में एक और बड़ी खबर सामने आती दिख रही है. आखिर नरेन्द्र मोदी को सबसे अधिक प्यारा कौन है? इस रेस में खुद को आगे रखते हुए एलजेपी पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने कहा मैं नरेन्द्र मोदी के लिये हनुमान की तरह हूँ. इससे पहले भी चिराग पासवान ने चुनावी मैदान में नरेन्द्र मोदी  का इस्तेमाल करते नजर आए हैं. सवाल यहाँ  खड़ा होता है  बीजेपी के साथ एनडीए में चुनाव लड़  जेडीयू और एनडीए से बाहर चुनाव लड़ रही एलजेपी, दोनों ही प्रधानमंत्री के प्रति निष्ठा जता रहे हैं. यह भी कहा जा रहा है के यह चिराग पासवान का महज वोट बैंक अपनी तरफ करने का एक हथियार है, ओर इसमें वह देश के प्रधानमंत्री के तस्वीरों को  इस्तेमाल करने की कोशिश कर रहे हैं. प्रधानमंत्री ने अपने तरफ से ये साफ़ कर दिया है की उनकी तस्वीरों को कोई और पार्टी नही इस्तेमाल कर सकती है.

उधर एलजेपी कैम्प से ये ख़बर है कि पार्टी ने पीएम मोदी के नाम का ज़िक्र करना जारी रखने का फ़ैसला किया है. पार्टी सूत्रों के मुताबिक़ चिराग पासवान ने अपने नेताओं को ये स्पष्ट निर्देश दिया है कि इस मसले पर बैकफुट पर आने की ज़रूरत नहीं है. पार्टी का मत है कि केंद्र में अभी भी एलजेपी एनडीए का हिस्सा है, लिहाज़ा उनके नाम का उपयोग करने में कुछ भी गलत नहीं है. ज़ाहिर है आने वाले दिनों में पार्टी की तरफ़ से पीएम के प्रति निष्ठा और सम्मान दिखाने वाले अभी और ट्वीट और बयान सामने आएंगे.

वहीं, अब सबकी नजर बिहार में पीएम मोदी की होने वाली सभाओं पर होगी. पीएम 23 अक्टूबर को सासाराम से एनडीए के लिए अपने अभियान का आगाज़ करेंगे. सासाराम का चयन इसलिए किया गया है, क्योंकि उस सीट से जेडीयू का उम्मीदवार खड़ा है जिसके ख़िलाफ़ एलजेपी भी मैदान में है. बीजेपी से ज़्यादा जेडीयू को ये उम्मीद होगी कि मोदी इस उहापोह को समाप्त करने के लिए कोई सीधा सीधा बयान देंगे.


Find Us on Facebook

Trending News