किसान बिल के विरोध में नवादा में वामपंथी दलों ने दिया धरना, कहा मोदी देश को अडानी -अंबानी के हाथों बेचने में लगे है

किसान बिल के विरोध में नवादा में वामपंथी दलों ने दिया धरना, कहा मोदी देश को अडानी -अंबानी के हाथों बेचने में लगे है

NAWADA : किसान विरोधी तीनों काले कानूनों के खिलाफ अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के राष्ट्रव्यापी जिला मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन के तहत एक दिवसीय धरना का कार्यक्रम आयोजित किया गया. जिसकी अध्यक्षता किसान महासभा के संयोजक कामरेड किशोरी प्रसाद, सीपीआईएमके जगदीश यादव व विपिन  सिंह, सीपीआई के जनार्दन सिंह ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी देश को अडानी -अंबानी के हाथों बेचने में लगे है. 

वही विधायक नीतू सिंह ने धरना पर बैठे लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि किसान विरोधी तीनों काले कानूनों को रद्द किया जाए. दिल्ली में आंदोलनरत किसानों से अविलंव वार्ता करने के बजाय आंदोलन को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है. इसके बावजूद किसान आंदोलन कर रहे हैं. उन्होंने कहा की सरकार को किसानों की मांगों को मानना होगा. उन्होंने कहा की काले कानूनों को वापस नहीं लिया गया तो कांग्रेस के सभी कार्यकर्ता व वामपंथी दल के साथ मजदूर, नौजवान, छात्र और महिलायें भी किसानो के समर्थन में सङकों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन में भाग लेगी. 

मौके पर भाकपा माले जिला सचिव कॉ. नरेंद्र प्रसाद सिँह ,माकपा जिला सचिव का.नरेशचंद्र शर्मा , भाकपा जिला सचिव कॉ. जयनंदन सिंह, भाकपा माले सह इनौस के भोला राम ,अजीत कुमार मेहता , किसान नेता कॉ. जगदीश चौहान , मजदूर नेता मेवालाल राजबंशी , महिला नेता सुदामा देवी , सहित कांग्रेस के तमाम नेता व वामपंथी दल के नेता मौजूद थे. 

नवादा से अमन सिन्हा की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News