जानिए क्या हुआ जब अपने गुरु से मिले लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान ...

जानिए क्या हुआ जब अपने गुरु से मिले लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान ...

PATNACITY : कहते हैं गुरु का स्थान भगवान से भी ऊपर होता है. हर व्यक्ति के जीवन में गुरु की भूमिका अतुलनीय मानी जाती है. उनके दिए गए विद्या से ही हर आदमी अपने जीवन में ऊँची से ऊँची मुकाम हासिल करता है. जीवन जीने का तरीका भी हर कोई अपने गुरुजनों से ही सीखता है. 

वे बिना कोई भेदभाव किये हर किसी को प्रकृति की तरह एक सामान दृष्टि से देखते हैं. उनके शिष्यों में से कोई जिंदगी का मुकाम हासिल करता है तो कोई जिंदगी जीने में अपने गुरु के अनुभवों का सहारा लेता है. एक दौर के बाद जब गुरु से मुलाकात होती है तो उनके अनुभव आँखों के सामने तैर जाते हैं और सिर श्रद्धा से स्वयं ही झुक जाता है. 

आज ऐसा ही नजारा देखने को मिला पटनासिटी में जब केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान की मुलाकात उनके गुरु से हुई. इस मौके पर उन्होंने कहा की जिन्होंने मुझे खल्ली पकड़ कर जिंदगी जीना सिखाया. मैं उन्हें नमन करता हूँ. 

उन्होंने अपने गुरुवार कन्हैया प्रसाद गुप्ता के पैर छूकर उनका आशीर्वाद लिया और कहा की आज जो भी हूँ. अपने गुरु के ही बदौलत हूँ. अपने गुरु से मिलते हुए उन्होंने अंगवस्त्र, मिठाई और पचास हज़ार रुपये देकर उन्हें सम्मानित किया.  

पटनासिटी से रजनीश की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News