केरल में कुदरत का कहर जारी, 70 से ज्यादा की मौत, 14 जिलों में अलर्ट जारी

केरल में कुदरत का कहर जारी, 70 से ज्यादा की मौत, 14 जिलों में अलर्ट जारी

N4N DESK : केरल में कुदरत का कहर जारी है। पिछल कई दिनों से लगातार मूसलाधार बारिश की वजह से आई बाढ़ के कारण के अबतक 70 से ज्यादा लोगों की जान जाने की सूचना है। वहीं कोच्चि हवाई अड्डे पर शनिवार तक विमानों की आवाजाही पर विराम लग गया है। वहीं ट्रेन सेवाएं बाधित हैं और सड़क परिवहन सेवाएं भी अस्तव्यस्त हैं। जगह-जगह सड़कें पानी में डूब गई हैं। सभी जिलों में शैक्षणिक संस्थानों में छुट्टी की घोषणा कर दी गयी है। कॉलेजों और महाविद्यालयों ने परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं। राज्य के विभिन्न हिस्सों में विद्युत आपूर्ति, संचार प्रणाली, पेयजल आपूर्ति बाधित है। स्थिति के और गंभीर होने पर राज्य सरकार ने सेना, एनडीआरएफ और सैन्य इंजीनियरिंग की टीमों की मदद मांगी है। 

कई बड़े पर्यटन केन्द्र किये गए है बंद

बाढ़ की भयावह स्थिति को देखते हुए अतिरप्पली, पोनमुढी और मन्नार समेत कई बड़े पर्यटन केंद्र बंद कर दिए गए हैं। जहां ओणम उत्सव के मौके पर बड़ी संख्या में पर्यटकों के पहुंचने की उम्मीद होती है। कोच्चि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा परिसर में पानी घुस जाने के कारण उसे शनिवार तक बंद करने की घोषणा की गई है। इंडिगो, एयर इंडिया और स्पाइस जेट ने कोच्चि हवाई अड्डा से अपना परिचालन बंद करने की घोषणा की है।

शरणार्थी शिविरों में शरण लिए हुए है 80 हजार से ज्यादा लोग

बाढ़ से 2000 से ज्यादा घरों को नुकसान पहुंचा है। राज्य में लोगों के लिए 718 राहत कैंप बनाए गए हैं। हजारों लोग शरणार्थी शिविरों में हैं। राहत एवं बचाव कार्यों के लिए एनडीआरएफ की चार टीमें पुणे से केरल भेजी गई हैं। अधिकारियों की माने तो कि राज्य में बाढ़ का खतरा बना हुआ है। इस वजह से सभी 14 जिलों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। उत्तर में कासरगोड से लेकर दक्षिण में तिरूवनंतपुरम तक सभी नदियां उफान पर हैं। मुल्लापेरियार समेत 35 बांधों के फाटक खोल दिए गए हैं। खतरे की आशंका के मद्देनजर गुरुवार को केरल के सभी स्कूलों को बंद रखने का ऐलान किया गया है।

गृह मंत्री ने सीएम से की बात

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने 15 अगस्त को केरल के मुख्यमंत्री से बात की और राज्य में बाढ़ की स्थिति के बारे में जानकारी ली। गृह मंत्री ने दिन भर में दो बार मुख्यमंत्री से बात की। इस दौरान उन्होंने दक्षिणी राज्य में बचाव, राहत और पुनर्वास के कार्यों में केंद्र की ओर से सभी तरह की मदद का आश्वासन दिया।

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि विजयन ने सिंह को राज्य सरकार और केंद्रीय एजेंसियों द्वारा उठाये गए कदमों की जानकारी दी। रविवार को राज्य की यात्रा के दौरान गृह मंत्री ने केरल सरकार को 100 करोड़ रुपये की तत्काल राहत राशि देने का ऐलान किया था।

Find Us on Facebook

Trending News