कुम्हरार विस सीट पर जेडीएस प्रत्याशी प्रो. फजल अहमद को जीत का भरोसा, कहा- यहां की जनता ने मुझसे चुनाव लड़ने कहा है, इसलिए जीत मेरी ही होगी

कुम्हरार विस सीट पर जेडीएस प्रत्याशी प्रो. फजल अहमद को जीत का भरोसा, कहा- यहां की जनता ने मुझसे चुनाव लड़ने कहा है, इसलिए जीत मेरी ही होगी

पटना... आंख से आंसू आ जाएगा ये हालत बिहार की है, इसलिए हमारी सबसे पहली प्राथमिकता यही होगी कि अपने क्षेत्र में ड्रेनेज प्रोब्लम को ठीक करें। इसके अलावा स्कूलों में शिक्षा की व्यवस्था को ठीक करना एवं क्षेत्र में सभी मूलभूत सुविधाओं को हर घर तक पहुंचाना। यह बात एक चर्चा के दौरान कुमरार विधानसभा सीट से जनता दल सेक्यूलर पार्टी के प्रत्याशी प्रो. फजल अहमद ने कही। उन्होंने बातचीत के दौरान अपने आगामी पांच साल के रोडमैप को बताया। साथ ही उन्होंने अपने विरोधियों को भी जमकर घेरा और उनकी कार्यशैली पर  कई गंभीर सवाल उठाए। इस बीच प्रो. फजल अहमद विस चुनाव में अपनी जीत को लेकर आश्वस्त भी दिखे। 

चुनाव लड़ने के लिए मुझसे क्षेत्र की जनता ने कहा

प्रो. अहमद ने कहा कि क्षेत्र की दयनीय हालत देखने के बाद यहां की जनता ने मुझसे चुनाव लड़ने को कहा। जिस तरह पिछले साल क्षेत्र में वाटर लाॅबिंग की समस्या उभरकर सामने आई, वह दिल दहला देने वाला था। बच्चे-बूढ़े भूख से मर रहे थे। सरकार और वर्तमान विधायक के प्रति लोगों में आक्रोश भरा हुआा है। 

सड़क, शिक्षा और स्वास्थ्य ही पहली प्राथमिकता

चुनाव में जीत को लेकर आश्वस्त दिखने वाले प्रो. अहमद ने कहा कि मेरी प्राथमिकता क्षेत्र का विकास है। जिसमें सबसे पहले ड्रेनेज सिस्टम ठीक करने के साथ-साथ सड़क, शिक्षा औरे स्वास्थ्य होगा। मैं पूरी तरह से सिस्टम के तहत काम करूंगा। 

वर्तमान भाजपा विधायक से उनकी सीधी टक्कर

प्रो. अहमद ने कहा कि उनकी सीधी टक्कर यहां के वर्तमान विधायक अरुण कुमार सिन्हा से है। उन्होंने वर्तमान भाजपा विधायक अरुण कुमार सिन्हा पर निशाना साधते हुए कहा कि जब लोग वाटर लाॅबिंग की समस्या को लेकर बताने गए तो उन्होंने अनसुना कर दिया और कहा कि लोग एक माह बाद सब भूल जाएंगे। वहीं, सुशील मोदी को लेकर भी अपना आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि जब लोग पानी में डूब रहे थे तो वो खुद उस मोहल्ले को छोड़कर चले गए, जहां वो रहते हैं। वो लोगों की मदद करने बजाए खुद ही भाग गए। जबकि उन्हें प्रशासन को निर्देश देकर लोगों को राहत मुहैया करानी चाहिए थी। 

चुनाव में तेजस्वी चुनौती नहीं 

वहीं, तेजस्वी यादव को चुनौती नहीं मानते हुए कहा कि तेजस्वी का श्लोगन है सामाजिक न्याय का लेकिन काम होता है पारिवारिक और आर्थिक न्याय का। वहीं युवाओं को रोजगार देने की बात पर प्रदेश के आंकड़े देते हुए कहा कि वो किस आधार पर कह रहे हैं कि 10 लाख नौकरी देंगे। उन्होंने कहा कि मुकाबला दिलचस्प होगा और जीत मेरी निश्चित होगी। 


Find Us on Facebook

Trending News