प्रवासी भारतीयों का वीजा रद्द कर रही है कुवैत सरकार, लेकिन किन लोगों पर हुई यह कार्रवाई, जानने के लिए पढ़ें खबर

प्रवासी भारतीयों का वीजा रद्द कर रही है कुवैत सरकार, लेकिन किन लोगों पर हुई यह कार्रवाई, जानने के लिए पढ़ें खबर

DESK : कुवैत उन देशों में शामिल है, जहां नुपुर शर्मा के विवादित बयान पर सबसे पहले अपनी नाराजगी जाहिर की थी। अब कुवैत सरकार ने एक और बड़ा कदम उठाया है। कुवैत में प्रवासी भारतीयों को गिरफ्तार कर उन्हें निष्कासित किया जा रहा है. इसके साथ ही, उनका वीजा भी रद्द किया जा रहा है। लेकिन यह कार्रवाई सिर्फ उन लोगों पर की जा रहा है, जिन्होंने विवादित बयान के विरोध में सड़क पर उतरकर प्रदर्शन किया था। बता दें कि कुवैत में किसी प्रकार के प्रदर्शन करने पर प्रतिबंध है। 

बता दें कि नुपुर शर्मा और नवीन जिंदल के विवादित बयान के बाद शुक्रवार की नमाज के बाद फाहाहील इलाके से पैगंबर मोहम्मद के समर्थन में कुछ प्रवासियों द्वारा प्रदर्शन किया गया था। जिसे कुवैत सरकार ने गंभीरता से लिया है और अब इन प्रवासी भारतीयों की पहचान कर न सिर्फ उन्हें गिरफ्तार किया जा रहा है, बल्कि इसके साथ उनका वीजा रद्द किया जा रहा है। 

अभी दस लाख भारतीय हैं कुवैत में

बता दें कि कई मुस्लिम देशों ने पूर्व भाजपा नेताओं की विवादित टिप्पणियों की निंदा की है. आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, कुवैत में कानूनी रूप से निवास कर रहे भारतीय नागरिकों की संख्या 2019 में 10 लाख से ऊपर हो गई थी. कुवैत में हर साल भारतीय समुदाय के लोगों की संख्या में पांच-छह फीसदी की वृद्धि हो रही है।

अब खत्म हो गई है नाराजगी

कुवैत के विदेश मंत्रालय ने कहा कि कुवैत में भारत के राजदूत सिबी जॉर्ज को सम्मन भेजा गया और एशिया मामलों के सहायक विदेश मंत्री ने उन्हें एक आधिकारिक विरोध पत्र सौंपा। मंत्रालय ने भारत की सत्तारूढ़ पार्टी द्वारा जारी बयान का स्वागत किया, जिसमें उसने नेताओं को निलंबित करने की घोषणा की। 



Find Us on Facebook

Trending News