बाहुबली अनंत सिंह के क्या टकरा पाएंगे JDU के मोकामा वाले पहलवान राजीव लोचन? क्या छोटे सरकार को वॉकओवर देने की हो गई तैयारी

बाहुबली अनंत सिंह के क्या टकरा पाएंगे JDU के मोकामा वाले पहलवान राजीव लोचन? क्या छोटे सरकार को वॉकओवर देने की हो गई तैयारी

PATNA : बिहार विधानसभा चुनाव की पहले फेज के नामांकन के लिए बस 4 दिन बचे हैं. ऐसे में आज जदयू ने पहले फेज के लिए लिए अपने उम्मीदवारों को सिंबल देना शुरू कर दिया है. लेकिन इस बीच जदयू ने मोकामा से जिस उम्मीदवार को चुनावी मैदान में उतारा है उसे लेकर लोग कन्फ्यूज हैं. अब तो चर्चा होने लगी है कि ऐसे कैंडिडेट को बाहुबली अनंत के खिलाफ उतारकर इस बार अनंत को वॉक ओवर देने की तैयारी क्या कर ली गई है?

अनंत के सामने क्या टिक पाएंगे JDU वाले राजीव लोचन

हरि अनंत, हरि कथा अनंता वाले अनंत सिंह मोकामा से लगातार चुनाव जीतते रहे हैं. कोई पार्टी टिकट दे तो ठीक और नहीं भी दे तो भी ठीक. अनंत सिंह का मोकामा में क्या पकड़ है उन्होंने 2015 के चुनाव में दिखा दिया था.  जेल में बंद होने के बाद 2015 का चुनाव अनंत ने निर्दलीय होते हुए भी आसानी से जीत लिया था. इस बार अनुमान लगाया जा रहा था कि अनंत के खिलाफ जदयू कोई मजबूत उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतारेगा लेकिन जिस उम्मीदवार को मोकामा से टिकट दिया गया है उनकी छवि तो साफ सुथरी है लेकिन बड़ा सवाल समाने यह है कि क्या जदयू का यह प्रत्याशी अनंत सिंह के सामने चुनावी अखाड़े में टिक पाएगा या फिर चारों खाने चित होगा. सूत्रों की माने तो तो जदयू का स्थानीय खेमा भी उस उम्मीदवार को पचाने के मूड में नहीं है. गौरतलब है कि नीतीश कुमार इस बार के चुनाव में अपराधिक छवि के लोगों को टिकट नहीं देने का ऐलान किया है.इसी रणनीति के तहत बीजेपी के राजीव लोचन को जदयू का टिकट थमा दिया गया है. अब देखना होगा कि राजीव लोचन ऊर्फ अशोक नारायण जदयू को मोकामा को जीत की टिकट थमा पाते हैं या नहीं.

मैदान में कूद सकते हैं कई पूर्व पहलवान
टिकट बंटने के कुछ देर पहले तक मोकामा के ललन सिंह रेस में आगे चल रहे थे.सांसद ललन सिंह के द्वारा वेट एंड वॉच करने को कहा गया था.बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान लोजपा के ललन सिंह को बड़े ही तामझाम के साथ ललन सिंह को जदयू में शामिल करवाया गया था. भरोसा दिया गया था विधानसभा का टिकट ललन सिंह को दिया जाएगा. लेकिन बेचारी ललन सिंह अंत समय में गच्चा खा गए.अब बड़ा सवाल है कि लोजपा वहां किसे मैदान में उतारती है. 

कौन हैं राजीव लोचन
जदयू ने मोकामा से राजीव लोचन को उम्मीदवार बनाया है.दरअसल राजीव लोचन वेंकटेश नारायण सिंह के बेटे हैं. बताया जाता है कि वेंकटेश नारायण सिंह अटल बिहारी वाजपेयी के करीबी थे और जनसंघ के टिकट से मोकामा से चुनाव लड़ चुके हैं. राजीव लोचन बीजेपी के नेता हैं और जब सीपी ठाकुर जब बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष थे तब राजीव लोचन चुनाव समिति के सदस्य थे.इतना तय है कि इस बार मोकामा में चुनावी घमासान तेज होने वाला है.

Find Us on Facebook

Trending News