10 हजार रूपये की 22 नौकरियों के लिए दिया गया लाखों का विज्ञापन : भाजपा

10 हजार रूपये की 22 नौकरियों के लिए दिया गया लाखों का विज्ञापन : भाजपा

RANCHI : राज्य सरकार द्वारा 22 लड़कियों को 10 हजार 6 सौ की नौकरी देने के लिए लाखों के विज्ञापन दिए जाने को लेकर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता प्रदीप सिन्हा ने कहा कि कांग्रेस झामुमो की सरकार बेरोजगारों के सपने पर तमाचा जड़ने का कार्य किया है. सिन्हा आज प्रदेश कार्यालय में प्रेसवार्ता को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि सरकार बनते ही पहले साल 5 लाख युवाओं को नौकरी देने के वादे को सरकार ने तार तार करने का काम किया है. 5 लाख के बजाए सिर्फ 22 लोगों को नौकरी देकर लाखों का विज्ञापन बेरोजगार युवक युवतियों का अपमान है. 

उन्होंने कहा की विज्ञापन का पैसा नौकरी करने वालों को मिलता तो सैलरी में कुछ बढ़ोतरी हो जाती. 22 लोगों को 10 हजार की नौकरी बेरोजगारों के साथ क्रूर मजाक है. बेरोजगारों को 7 हजार की भत्ता देने का वादा करने वाली हेमन्त सरकार 10 हजार की 22 नौकरी देकर ढिंढोरा पीट रही है. उन्होंने कहा कि आज   राज्य में रघुवर सरकार में लगे दो गारमेंट उद्योग बंद हो चुके है. जिससे हजारों लोग बेरोजगार हो गए. राज्य सरकार को इसकी कोई चिंता नही है. श्री सिन्हा ने कहा कि हजारों शिक्षकों की नौकरी सरकार की गलती के कारण अधर में लटक गई है. हताश निराश युवा बेरोजगार आत्महत्या करने को मजबूर हैं. उन्होंने कहा कि यह सरकार नौकरी देने के बजाए नौकरियां लेने वाली सरकार है. दिशाहीन सरकार की कार्यशैली राज्य की जनता देख रही है. 


उन्होंने राज्य की बहू बेटियों के साथ बढ़ते अपराध की घटना पर झामुमो कांग्रेस के नेताओं के बयान पर बड़ा सवाल खड़ा किया है. उन्होंने कहा कि राज्य की बेटियां पुलिस से न्याय के लिए गुहार लगाते लगाते मौत को गले लगा ले रही है और झामुमो के नेता लड़कियों को इसके लिए जिम्मेवार ठहराते हैं. कांग्रेस के कई नेता जिनमें कमलनाथ, अशोक गहलोत का बयान काफी शर्मनाक है. इससे झामुमो कांग्रेस के नेताओं की मानसिकता स्पष्ट झलकती है. 

उन्होंने कहा की राजधानी रांची में दुष्कर्म होना, हजारीबाग की बेटी न्याय नहीं मिलने पर फांसी के फंदे में झूल गयी. लेकिन बेशर्म सरकार को कोई फर्क नहीं पड़ा. पुलिस के मुखिया कहते हैं राज्य में सब कुछ ठीक है.  इधर पुलिस वाले ही बेटियों की इज्जत लूटने में लगे हैं. राज्यपाल को खुद संज्ञान ले रही है. हाईकोर्ट ने बढ़ते अपराध, दुष्कर्म पर सवाल खड़े किये है. मुख्यमंत्री के विधान सभा क्षेत्र में रोज बेटियों के साथ अन्याय हो रहा और सरकार कह रही सब कुछ ठीक है. प्रत्येक दिन 5 से ज्यादा लोगों की हत्या, लूट डकैती, बढ़ता अपराध और उग्रवाद दुर्भाग्यजनक है. 

रांची से मोइजुद्दीन की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News