कुढ़नी में JDU की हार पर ललन ने साधी चुप्पी... मीडिया को दिया सुझाव – हमसे नहीं BJP से पूछें क्यों हारे MCD और हिमाचल

कुढ़नी में JDU की हार पर ललन ने साधी चुप्पी... मीडिया को दिया सुझाव – हमसे नहीं BJP से पूछें क्यों हारे MCD और हिमाचल

पटना. जदयू अध्यक्ष ललन सिंह ने कहा है कि मीडिया को सवाल भाजपा से करना चाहिए कि वे लोग दिल्ली में MCD और हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव क्यों हार गए. जदयू राष्ट्रीय परिषद की बैठक में शामिल होने शनिवार को पटना में पार्टी कार्यालय पहुंचे ललन सिंह से जब कुढ़नी विधानसभा उपचुनाव में जदयू को मिली हार पर सवाल किया गया तो उन्होंने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी. हालांकि उन्होंने भाजपा को निशाने पर लेते हुए कहा कि बीजेपी को दो जगहों पर करारी हार मिली है. सवाल भाजपा से पूछा जाना चाहिए की वे क्यों हिमाचल प्रदेश में चुनाव हार गए. दिल्ली में जीत क्यों नहीं मिली. जिन सीटों पर जीत मिली है उनमें कई ऐसी सीटें हैं जहाँ भाजपा के लोग सिर्फ 200 से 300 वोटों के अंतर से जीते हैं. 

दरअसल, जदयू राष्ट्रीय परिषद की बैठक में किन मुद्दों पर चर्चा होगी इस सवाल पर ललन सिंह ने कहा कि बैठक के बाद मीडिया को इसकी पूरी जानकारी दी जाएगी. इसी दौरान जब उनसे जदयू पर हमलावर भाजपा को लेकर सवाल किया गया तब ललन सिंह ने पलटवार किया. उन्होंने भाजपा को दिल्ली में हिमाचल में मिली हार का मुद्दा उठाया. ललन सिंह ने कहा कि भाजपा नेताओं को दिल्ली और हिमाचल में हुई हार पर प्रतिक्रिया देनी चाहिए. 

जनता दल यूनाइटेड (जदयू) की राष्ट्रीय परिषद की बैठक 10 दिसंबर यानी शनिवार को पटना में होनी है. इस में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ ढाई सौ के करीब राष्ट्रीय परिषद के सदस्य और आमंत्रित सदस्य भाग लेंगे. पार्टी कार्यालय के कर्पूरी सभागार में आयोजित इस बैठक को लेकर पूरे पटना में जदयू की ओर से बड़े बड़े होर्डिंग-पोस्टर लगाए गए हैं. वहीं पार्टी कार्यालय में भी जोरदार तैयारी की गई है. जदयू के राष्ट्रीय परिषद की बैठक कई मायनों में बेहद अहम है. इसमें पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में दोबारा चयनित राजीव रंजन उर्फ़ ललन सिंह के नाम की घोषणा की जाएगी. साथ ही कुढ़नी उपचुनाव में मिली जदयू की हार के बाद भविष्य की रणनीति को तय करने के मकसद से भी यह बैठक बेहद अहम माना जा रहा है. 


वहीं 11 दिसम्बर को पार्टी का खुला अधिवेशन होना है. जदयू दो दिनों के इस मंथन में आने वाले लोकसभा चुनाव 2024 और बिहार विधानसभा चुनाव 2025 पर चर्चा करेगी. साथ ही अगले साल होने वाले कर्नाटक और नागालैंड चुनाव पर भी पार्टी अहम निर्णय ले सकती है.  


Find Us on Facebook

Trending News