ललन सिंह ने सेवादारी पर उठाए सवाल, कहा - टिकट के लिए हमलोगों के पास आए थे गिड़गिड़ाने, अब सब भूल गए

ललन सिंह ने सेवादारी पर उठाए सवाल, कहा - टिकट के लिए हमलोगों के पास आए थे गिड़गिड़ाने, अब सब भूल गए

PATNA : बिहार में जदयू अध्यक्ष ललन सिंह और राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के बीच चल रही जुबानी लड़ाई तेज होती जा रही है। जिस तरह से जगदानंद सिंह ने सीएम नीतीश कुमार के पिता का नाम राजनीति में घसीटा है, उसके बाद जदयू अध्यक्ष ललन सिंह लगातार हमलावर हैं। ललन सिंह ने जगदानंद सिंह पर 1985 की एक घटना का स्मरण कराया है। जिसमें राजद प्रदेश अध्यक्ष को टिकट के लिए गिड़गिड़ाने का जिक्र किया है।

गिड़गिड़ाते हुए आए थे हमलोगों के पास

ललन सिंह ने जगदानंद सिंह को लालू प्रसाद का सेवादार बताते हुए कहा है कि 'जगदा बाबू, स्मरण कीजिए, 1985 में आपके बदले स्व. सच्चिदा बाबू के सुपुत्र को टिकट मिल चुका था और आप गिड़गिड़ा रहे थे तब आपके लिए जननायक कर्पूरी ठाकुर जी से मिलकर हमलोगों ने ही अनुनय-विनय किया था और आपको टिकट मिली थी।' ललन सिंह ने जगदानंद सिंह को उपकार न माननेवाला 'कृतध्न' व्यक्ति करार दिया है।



आत्म चिंतन कीजिए जगदाबाबू

ललन सिंह ने जगदानंद सिं पर सीएम नीतीश कुमार के पिता के नाम का इस्तेमाल राजनीति के लिए करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा एक दिवगंत स्वतंत्रता सेनानी के नाम का इस्तेमाल छद्म राजनीति के लिए किया जा रहा है। जदयू अध्यक्ष ने लिखा कि 'जगदा बाबू, आप इतने कृतघ्न हैं कि अपनी सेवादारी के नशे में आप हमलोगों के नेता आदरणीय @NitishKumar  जी के साथ-साथ उनके दिवंगत स्वतंत्रता सेनानी पिताजी को भी छद्म राजनीति में घसीटकर अपमानित कर रहे हैं...! आत्म-चिंतन कीजिए कि आप कितने कृतघ्न हैं...?'

राजद के प्रदेश अध्यक्ष को बेशर्म भी कहा

मंगलवार को भी ललन सिंह ने ट्वीट करके लिखा था कि जगदा बाबू, आप निकृष्टतम चरित्र के व्यक्ति हैं! शायद आप भूल चुके हैं कि विधानसभा में इस्तीफा की घोषणा के बाद एक ही धोती-कुर्ता में 5 दिनों तक उसी वैद्य और स्वतंत्रता सेनानी पुत्र नीतीश कुमार के आवास पर अपना इस्तीफा अस्वीकार करवाने के लिए खटिया पकड़े हुए थे।

बता दें कि तीन दिन पहले जगदानंद सिंह एक प्रेस वार्ता के दौरान बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर हमला करते हुए कहा था वह बताएं कि उनके पिता ने उनके नाम पर कितनी संपत्ति छोड़ी थी। जगदानंद सिंह ने सीधे सीधे सीएम पर अवैध संपत्ति अर्जित करने का आरोप लगाया था।


Find Us on Facebook

Trending News