सुशील मोदी पर ललन सिंह का पलटवार, पूछा- 'क्यों बेगूसराय गोलीकांड की CBI जांच? साजिश खुलने का डर सता रहा है?'

सुशील मोदी पर ललन सिंह का पलटवार, पूछा- 'क्यों बेगूसराय गोलीकांड की CBI जांच? साजिश खुलने का डर सता रहा है?'

पटना. भाजपा सांसद सुशील मोदी ने बेगूसराय गोलीबारी कांड की जांच सीबीआई से करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि बिहार पुलिस इसे जांच करने में सक्षम नहीं है। उनके इस बयान पर जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि सही अपराधियों के पकड़े जाने से भाजपा को डर सता रहा है कि कहीं पूरी साजिश बेनकाब न हो जाए। 

सुशील मोदी पर पलटवार करते हुए ललन सिंह ने ट्वीट किया, 'आपके वक्तव्य से स्पष्ट हो रहा है कि सही अपराधियों के पकड़े जाने से आप लोगों को डर सता रहा है कि कहीं पूरी साजिश बेनकाब न हो जाए। इसलिए अपने 'तोता सीबीआई' से जांच की मांग कर रहे हैं। चिंता मत करें! पुलिस प्रशासन पूरी निष्पक्षता से जांच कर रही है। साजिश का खुलासा होगा।'

वहीं सुशील कुमार मोदी ने कहा कि बेगूसराय में एनएच पर सरेशाम 30 किलोमीटर तक बेरोक-टोक गोलीबारी करने की अभूतपूर्व घटना की जांच सीबीआई से करायी जानी चाहिए। इस मामले में बिहार पुलिस की अब तक की जांच संतोषजनक नहीं। मोदी ने कहा कि बेगुसराय और पटना में पुलिस ने जो जानकारी दी, उसमें काफी विरोधाभास और अस्पष्टता है। उन्होंने कहा कि पुलिस नहीं बता पायी कि जिन चार लोगों को पकड़ा गया, उनमें मोटरसाइकल सवार अपराधियों में से कोई है या नहीं? जिसने गोली चलायी, वह कौन था?

सुशील मोदी ने कहा कि पुलिस ने पहले जो फुटेज जारी किया, उसमें केवल एक बाइक पर दो सवार थे। बाद में जारी फुटेज में दो बाइक पर चार लोग सवार दिखे। उन्होंने कहा कि इतने गंभीर मामले में मीडिया के सभी सवालों का जवाब दिये बिना हड़बड़ी में प्रेस ब्रीफिंग खत्म करने से लगा कि पुलिस के पास पुख्ता जानकारी नहीं या वह कुछ छिपाना चाहती है। 

सुशील मोदी ने कहा कि बेगूसराय कांड की जांच करने में बिहार पुलिस सक्षम नहीं है, इसलिए इसे तुरंत सीबीआई को सौंपा जाना चाहिए। केवल दहशत फैलाना ऐसी गोलीबारी का मकसद नहीं हो सकता। मोदी ने कहा कि सप्ताह भर पहले बेगूसराय में डेढ़ करोड़ रुपये मूल्य की शराब पकड़ी गई थी, इसलिए शराब माफिया से भी संबंध हो सकता है। उन्होंने कहा कि इस घटना में जितने पहलू हो सकते हैं, उन सबकी जांच करना बिहार पुलिस के बूते की बात नहीं।

Find Us on Facebook

Trending News