लालू यादव की वजह से अधिकारी को नहीं मिलेगा सरकारी बंगला, किराये पर रहना होगा

लालू यादव की वजह से अधिकारी को नहीं मिलेगा सरकारी बंगला, किराये पर रहना होगा

RANCHI : बिहार विधानसभा चुनाव में राजद ने एनडीए को कड़ी टक्कर दी है. विधानसभा के 243 सीटों में से राजद सबसे बड़ा दल बनकर उभरा है. महागठबन्धन को इस चुनाव में 110 सीटें मिली है. जबकि एनडीए ने 125 सीट हासिल किया है. सोमवार को नीतीश कुमार सातवीं बार मुख्यमंत्री के रूप ने शपथ लेंगे. उधर रांची से मिल रही जानकारी के अनुसार बिहार विधानसभा चुनाव में बेहतर प्रदर्शन करनेवाले राजद के पार्टी सुप्रीमो लालू यादव के कारण एक अधिकारी को किराये के मकान में रहना होगा. 

दरअसल पूरा मामला यह है की राजद सुप्रीमो लालू यादव चारा घोटाले मामले में जेल की सजा काट रहे हैं. इस दौरान रांची के रिम्स स्थित पेइंग वार्ड में इनका इलाज चल रहा है. हालाँकि कोरोना की वजह से लालू प्रसाद को रिम्स के निदेशक के केली स्थित बंगले में रखा गया है. 

लालू यादव शुगर, ब्लड प्रेशर, किडनी डिजीज आदि का इलाज करा रहे हैं. इसकी वजह से रिम्स के निदेशक कामेश्वर प्रसाद को केली स्थित बंगले के बजाय स्टेट गेस्ट हाउस में रहना होगा. इसके लिए उन्हें प्रतिदिन 400 रूपये चुकता करना पड़ेगा. पद्मश्री पुरस्कारों के सम्मानित कामेश्वर प्रसाद एम्स सहित कई महत्वपूर्ण संस्थानों में काम कर चुके हैं.  


Find Us on Facebook

Trending News