लालू के फोन से बिहार की राजनीति गरमाई, डिप्टी सीएम झारखंड सरकार को कार्रवाई के लिए लिखेंगे पत्र

लालू के फोन से बिहार की राजनीति गरमाई, डिप्टी सीएम झारखंड सरकार को कार्रवाई के लिए लिखेंगे पत्र

पटना... बिहार विधानसभा अध्यक्ष पद पर अपनी दावेदारी को मजबूत करने रिम्स गेस्ट हाउस से लालू प्रसाद की ओर से एनडीए विधायक को फोन आने का मामला अब गरमाता ही चला जा रहा है। अब इस माले को लेकर डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि इस मामले की जांच के लिए वो झारखंड सरकार को पत्र लिखेंगे। चूंकि फोन झारखंड से हुआ है इसलिए झरखंड सरकार को कार्रवाई करनी चाहिए। अगर झारखंड सरकार कार्रवाई नहीं करती है तो हम केंद्र का भी रुख कर सकते हैं और सीबीआई जांच की भी मांग कर सकते हैं।

बीजेपी नेता और बिहार के डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि लालू की ओर से बीजेपी विधायक को फोन कर सदन में अनुपस्थित रहने की बात संबंधी प्रलोभन देना गंभीर मामला है। जेल में रहते हुए लालू प्रसाद यादव फोन कैसे कर सकते हैं?  बिहार के डिप्टी सीएम ने कहा कि लालू प्रसाद लगातार फोन पर बात करते हैं। तारकिशोर प्रसाद ने लालू पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि लालू दलित-पिछडों के हक की बात करते हैं पर भड़काने के लिए एक दलित पिछड़ा वर्ग के नेता ललन पासवान को ही उन्होंने चुना।

इधर, लालू प्रसाद की ओर से बीजेपी विधायक ललन पासवान को फोन किए जाने के मामले में ललन पासवान ने कहा कि यह कल यानी मंगलवार की शाम 6 बजे की घटना है जब वो सुशील मोदी के आवास पर बैठे हुए थे। ललन ने कहा कि जब लालू प्रसाद का फोन आया और जो ऑफर दिया तो उसे सुनकर वो स्तब्ध रह गए। ललन ने कहा कि ऐसे मामलों में कार्रवाई होनी चाहिए। 

यह है मामला

दरअसल 2020 के विधानसभा चुनाव में भागलपुर की पीरपैंती सीट से चुनकर आए ललन पासवान का दावा है कि उन्होंने लालू प्रसाद के उस प्रस्ताव को ठुकराया है जिसमें लालू प्रसाद ने उन्हें राजद का साथ देने की बात कही थी। हालांकि न्यूज4नेशन इस ऑडियो की सत्यता की पुष्टि नहीं करता है।


Find Us on Facebook

Trending News