जब लालू यादव और तत्कालीन PM में हुई थी कड़वी बहस, गुस्से में लाल देवगौड़ा बोले- वो 'भैंस' तो है नही की इधर-उधर हांक दिया

जब लालू यादव और तत्कालीन PM में हुई थी कड़वी बहस, गुस्से में लाल देवगौड़ा बोले- वो 'भैंस' तो है नही की इधर-उधर हांक दिया

पटनाः बात करीब करीब 23 साल पुरानी है। जब  तत्कालीन प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा और लालू यादव के बीच कड़वी बहस हुई थी। चारा घोटाला मामले में जनवरी 1997 में  लालू प्रसाद यादव से CBI ने कड़ी पूछताछ की थी। सीबीआई टीम की अगुवाई कर रहे हैं यूएन विश्वास ने तब के मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव को 6 घंटे से अधिक समय तक रोक कर रखा था और करीब 400 सवाल पूछे थे।

माफी मांग कर खैनी खाने रूम के बाहर जाते थे लालू

सीबीआई पूछताछ के दौरान लालू यादव कई बार जांच टीम का नेतृत्व कर रहे अधिकारी UN विश्वास से माफी मांग कर बाहर जाते थे और मुंह की खैनी थूक होंठ के नीचे ताजा खैनी दबा आते थे। सीबीआई के 400 सवालों से बौखलाए लालू यादव पूछताछ खत्म होते ही प्रधानमंत्री को फोन कर फटकार लगाई। लालू ने तब के प्रधानमंत्री देवगौड़ा को कहा-"यह सब अच्छा नहीं हो रहा है जो आप करवा रहे हैं.इसका अंजाम बहुत बुरा होगा''. साजिश करनी है तो भाजपा के खिलाफ करो हमारे पीछे क्यों पड़े हो? देवगौड़ा को ऐसी धमकी की आदत थी,लिहाजा उन्होंने सिर्फ अपनी लाचारी व्यक्त की। सीबीआई जांच पर अदालतों द्वारा नजर रखी जा रही थी वह इसमें कुछ नहीं कर सकते। यह पहली बार नहीं था कि लालू यादव ने देवगौड़ा पर पूछताछ दबाने के लिए जोर डाला था। चारा घोटाला प्रधानमंत्री और उनकी पार्टी के अध्यक्ष के बीच टकराव का निरंतर स्रोत बन गया था।

CBI भैंस तो है नहीं

 इसी बीच जनता दल की संचालन समिति की दिल्ली में एक बैठक थी। बैठक जनवरी 1997 की पूछताछ के पहले हुई थी। लालू यादव उस बैठक में गए थे। लालू यादव के सामने जब प्रधानमंत्री देवगौड़ा हुए तो दोनों में एक कड़वी बस शुरू हो गई। बहस की शुरुआत लालू यादव ने की, तब बिहार के मुख्यमंत्री लालू यादव ने कहा "का जी देवगौड़ा इसीलिए तुमको प्रधानमंत्री बनाया था कि तुम हमारे खिलाफ केस तैयार करो? बहुत गलती किया तुमको पीएम बना कर." लालू यादव ने देवगौड़ा के आधिकारिक निवास 7 रेस कोर्स रोड के मीटिंग हॉल में प्रवेश करते हुए टिप्पणी की थी। लालू के इस सवाल का देवगौड़ा ने भी उसी अंदाज में जवाब दिया, कहा "भारत सरकार और सीबीआई कोई जनता दल तो है नहीं की भैंस की तरह इधर-उधर हांक दिया।आप पार्टी को भैंस की तरह हांकते हैं। लेकिन मैं भारत सरकार चलाता हूं।

लालू यादब बार-बार देवगौड़ा पर डालते थे दबाव

 चारा घोटाला से पीछा छुड़ाने के लिए देव गौड़ा पर लालू यादव के बार-बार दबाव डालने के पीछे शायद यही जानकारी थी कि सीबीआई की टीम का नेतृत्व वह व्यक्ति कर रहा था जिसे प्रधानमंत्री ने स्वयं चुना था। जोगिंदर सिंह कर्नाटक कैडर के आईपीएस अधिकारी थे। देवगौड़ा जोगिंदर सिंह से अपनी बात मनवा सकते थे लेकिन लालू यादव के मामले में कोई दिलचस्पी लेना नहीं चाहते थे।

साभार-बंधु बिहारी

Find Us on Facebook

Trending News