लालू यादव ने सीएम नीतीश और स्वास्थ्य मंत्री पर कसा तंज, कहा दोनों को मिलना चाहिए नोबल पुरस्कार

लालू यादव ने सीएम नीतीश और स्वास्थ्य मंत्री पर कसा तंज, कहा दोनों को मिलना चाहिए नोबल पुरस्कार

PATNA : बिहार में कोरोना का कहर लगातार जारी है. कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए बिहार में लॉकडाउन लगाया गया है. काफी हद तक बिहार में कोरोना की रफ्तार कम हुई है. इस दौरान विपक्ष लगातार सरकार पर हमलावर है. आये दिन सोशल मिडिया पर तीखी बयानबाजी जारी है. इस बीच राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोला है. तंज कसते हुए लालू यादव ने सीएम नीतीश कुमार को नोबेल पुरस्कार देने की मांग की है. आपको बता दें कि मधुबनी जिले के हरलाखी प्रखंड के हरसुवार गांव के उपस्वास्थ केंद्र की कुव्यवस्था की तस्वीर सोशल मिडिया पर काफी वायरल हुई थी. 

इसी बीच राजद ने अपने मधुबनी के ट्विटर अकाउंट से स्वास्थ्य केंद्र की बदहाली की तस्वीर शेयर की. साथ ही सरकार पर सवाल उठाया और लिखा की ये हरखाली प्रखंड क्षेत्र के हरसुवार गांव का उपस्वास्थ केंद्र है. इसकी हालत के लिए अगर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और बिहार के स्वास्थय मंत्री मंगल पांडेय को संयुक्त रूप से नोबेल पुरस्कार नहीं मिला तो बड़ा अन्याय होगा. आप क्या बोलते हैं? निचे लिखें. दरअसल मधुबनी जिले के हरसुवार गांव के उपस्वास्थ केंद्र की यह कुव्यवस्था की तस्वीर को देखकर राजद सुप्रीमो ने जवाब दिया. 

लालू प्रसाद यादव ने लिखा की मधुबनी के जनता मालिकों का कहना है कि जिले में ऐसे बड़ी संख्या में स्वास्थ्य केंद्र को बंद कराने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को नोबेल पुरस्कार के लिए नामांकित करना चाहिए. लगातार स्वास्थ्य की बदहाली की तस्वीर राजद ने ट्विटर से सोशल मिडिया पर शेयर करते हुए लिखा है की एक से बढकर एक अजीमोशान कारनामे हैं नीतीश कुमार और मंगल पांडेय के. जुगलबंदी बस गिनते जाइये. इस पर लालू ने लिखा, बिहार में बंद पड़े (लेकिन गुलाबी और बसंती फाइलों में संचालित) ऐसे हजारों स्वास्थ्य केंद्र नीतीश कुमार की फेल्योर के विराट स्मारक हैं. 

लालू यादव के इस तंज पर जदयू नेता और पूर्व मंत्री नीरज कुमार ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा की आपके कार्यकाल में लंदन से अत्याधुनिक चिकित्सीय उपकरणों से सुसज्जित एम्बुलेंस आया था. उसे आपने गरीब रैला में इस्तेमाल कर तबाह कर दिया था. सीएजी ने सवाल उठाया था याद है न! उन्होंने कहा की आपने 123 चरवाहा विद्यालय खोल सर्वनाश किया, मेडिकल कॉलेज खोलने में शर्म आ रही थी. 

पटना से वंदना शर्मा की रिपोर्ट 


 

Find Us on Facebook

Trending News