टिकारी अंचलाधिकारी के कारनामे से परेशानी में भूमि मालिक, एक ही जमीन को दो आदमी के नाम पर किया दाखिल ख़ारिज

टिकारी अंचलाधिकारी के कारनामे से परेशानी में भूमि मालिक, एक ही जमीन को दो आदमी के नाम पर किया दाखिल ख़ारिज

पटना. गया जिले के टिकारी अंचलाधिकारी पर एक ही भूमि को सात महीने के दौरान दो अलग अलग लोगों के नाम पर दाखिल-ख़ारिज करने का आरोप लगा है.टिकारी के मुसी गांव निवासी मनोज कुमार ने अपनी शिकायत में कहा है कि वर्ष 2005 में हुए उनके पारिवार के सदस्यों में कोर्ट से बंटवारा हुआ. मनोज कुमार को एक भूखंड में 80 डिसमिल जमीन कोर्ट के बंटवारा के आधार पर मिला. बाद में उस जमीन का जनवरी 2022 में अंचलाधिकारी टिकारी द्वारा दाखिल ख़ारिज और लगान रसीद काटते हुए मनोज कुमार को एलपीसी भी निर्गत किया जाता है. 

उन्होंने कहा कि मात्र सात महीने के बाद भी उसी जमीन को जुलाई 2022 में फिर से टिकारी अंचलाधिकारी द्वारा श्यामा कुमारी पति दीपक कुमार और संगीता कुमारी पति राजीव रंजन कुमार के नाम से दाखिल ख़ारिज करने हेतु आदेश दिया जाता है. यहां तक कि 31 अगस्त 2022 को जमीन का रसीद काटते हुए एलपीसी निर्गत कर दिया जाता है. यहां तक कि मनोज कुमार की माँ के नाम से जो खरीदगी 14 डिसमिल जमीन थी उसे भी कौशल कुमार के नाम पर दाखिल ख़ारिज कर दिया गया. 

मनोज कुमार ने कथित आरोप में कहा है कि पैसे के लेन-देन और स्थानीय नेताओं के दबाव में बिना जांच किए हुए ही एक ही जमीन को अंचलाधिकारी टिकारी द्वारा दो बार दाखिल ख़ारिज किया गया. उन्होंने अंचलाधिकारी पर अनियमितता बरतने और गलत तरीके से मनोज कुमार के स्वामित्व वाली भूमि को दूसरे लोगों के नाम पर फर्जी तरीके से दाखिल ख़ारिज करने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि जब इस मामले में उन्होंने अंचलाधिकारी को अपनी शिकायत की तो उन्होंने मामले को टालते हुए अपनी गलती को मानने से इनकार कर दिया और मनोज को ही फटकार लगाई. 

मनोज कुमार ने कहा कि वे अपनी शिकायत को वरिष्ठ अधिकारियों से करेंगे. इस ममाले में इस कदर अंचलाधिकारी टिकारी ने अनियमितता बरती है उसके साक्ष्य उनके पास उपलब्ध हैं. अंचलाधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करने और उनकी जमीन को लेकर जो विवाद उपजा है उसे दूर करने की वरीय अधिकरियों से अपील की. 


Find Us on Facebook

Trending News