मोतिहारी में लापरवाह डॉक्टर पर स्वास्थ्य महकमा मेहरबान, सीओ की रिपोर्ट के बाद भी नहीं हुई कार्रवाई

मोतिहारी में लापरवाह डॉक्टर पर स्वास्थ्य महकमा मेहरबान, सीओ की रिपोर्ट के बाद भी नहीं हुई कार्रवाई

MOTIHARI : मोतिहारी में स्वास्थ्य विभाग लापरवाह डॉक्टर पर इतना मेहरबाण है की डॉक्टर की लापरवाही से पीएचसी में मरीज की मौत के बाद भी कार्रवाई में हाथ कांप रहा है।सीओ के रिपोर्ट में स्पष्ट लिखा गया है कि डॉक्टर के अस्पताल में डियूटी से अनुपस्थित रहने व एएनएम की लापरवाही से प्रशव कराने आयी महिला की मौत हो गई । घटना के एक माह बाद भी सिर्फ लापरवाह डॉक्टर से स्पष्टीकरण ही मांगकर खाना पूर्ति किया जा रहा है ।जबकि डॉक्टर की लापरवाही से मरीज की मौत के बाद हंगामा कर रहे परिजनों पर अस्पताल प्रभारी द्वारा प्राथमिकी उसी दिन दर्ज करवा दिया गया ।मामला बंजरिया पीएचसी का बताया जा रहा है । भाजपा सांसद डॉ. संजय जायसवाल व नरकटिया विधायक डॉ. शमीम अहमद खुद पेशे से एक डॉक्टर है. इन दोनों नेताओं के रहने के बावजूद क्षेत्र में स्वास्थ्य विभाग का लचर व्यवस्था है. अभी एक मामला बेतिया लोकसभा क्षेत्र अंतर्गत नरकटिया विधानसभा के बंजरिया पीएचसी में सामने आया है. जहाँ बीते 17 जून को बंजरिया पीएचसी में पदस्थापित लापरवाह डॉ. नीलम कुमारी व एएनएम की लापरवाही से एक प्रसव पीड़िता सुनीता कुमारी की मौत हो गयी. घटना हुये एक माह से अधिक समय बीते जाने के बाद भी अभी तक लापरवाह डॉक्टर व एएनएम पर कार्रवाई नहीं हुआ है. स्वास्थ्य विभाग कितना उक्त डॉक्टर व एएनएम पर मेहरवान हैं, जिसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है. कार्रवाई के लिए सिर्फ दो बार स्पष्टीकरण पूछ कर खानापूर्ति कर लिया गया है. 

17 जून की घटना

ज्ञात हो कि 17 जून को रात में बंजरिया पीएचसी में अजगरी चूडीहरवा टोला निवासी प्रसाव पीड़िता सुनीता देवी की मौत डॉक्टर को पीएचसी में नहीं रहने के कारण हो गयी. जिसके बाद परिजनों ने 10 घंटे तक हंगामा किया गया था. सदर एसडीओ प्रियरंजन राजू, डीएसपी अरुण कुमार गुप्ता व सीओ मणिकुमार वर्मा के द्वारा काफी मशक्कत करने के बाद हंगामा कर रहे मृत महिला के परिजन शांत हुये थे. परिजनों को सीओ ने लापरवाह डॉक्टर नीलम कुमारी व एएनएम पर कार्रवाई होने का एक लिखित में आश्वासन दिया. जिसके बाद परिजन माने. डॉक्टर पर कार्रवाई करने को लेकर सीओ मणि कुमार वर्मा के  द्वारा सदर एसडीओ को 18 जून को ही एक पत्र लिखा गया. जिसमें उन्होंने ड्यूटी से डॉक्टर नीलम कुमारी की गायब रहने एएनएम के द्वारा लापरवाही बरतने से अजगरी चूडीहरवा टोला निवासी चन्देश्वर शर्मा के प्रसाव पीड़ित पत्नी सुनीता देवी का मौत होने के बात का जिक्र किया था, बावजूद उसके अभी तक करवाई नहीं होना कई सवालो को खड़ा कर रहा है. वही आमलोगों में चर्चा है कि कार्रवाई नही होने में मोटी रकम की खेल हुआ है ।जिसके कारण कार्रवाई नही हो रही है।

क्या बोले प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी

इस संबंध में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. अनिल कुमार झा ने बताया कि डॉक्टर से दुबारा स्पष्टीकरण पूछा गया था. जिसका जवाब डॉक्टर नीलम कुमारी व एएनएम के द्वारा दिया गया. जिसको जिला प्रशासन को भेज दिया गया है. उन्होंने बताया कि मेरे कार्यकाल का घटना नहीं हैं. इसके कारण विशेष जानकारी हमको नहीं है.

मोतिहारी से हिमांशु की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News