सबसे बड़े पुरस्कार से सम्मानित होंगे दिवंगत पुनीत राजकुमार, 12 साल बाद किसी को मिलेगा यह सम्मान

सबसे बड़े पुरस्कार से सम्मानित होंगे दिवंगत पुनीत राजकुमार, 12 साल बाद किसी को मिलेगा यह सम्मान

DESK : पिछले माह हार्ट अटैक के कारण दुनिया से रुखसत हुआ कन्नड़ एक्टर 46 वर्षीय पुनीत राजकुमार को कर्नाटक रत्न से सम्मानित किया जाएगा। यह पुरस्कार राज्य का सबसे बड़ा सम्मान है। यह पुरस्कार पानेवाले पुनीत 10वें शख्स होंगे। पिछले 12 साल से किसी को यह पुरस्कार नहीं दिया गया था। अंतिम बार 2009 में डॉ. वीरेंद्र हेगड़े को समाजसेवा के लिए यह अवॉर्ड दिया गया था।

बीते 29 अक्टूबर को दुनिया को अलविदा कहनेवाले पुनीत राजकुमार की याद में घोषणा कर्नाटक फिल्म चैंबर ऑफ कॉमर्स की ओर से हुए श्रद्धांजलि कार्यक्रम 'पुनीत नामाना'  आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम में पहुंचे  कर्नाटक के CM बसवराज बोम्मई ने पुनीत को कर्नाटक रत्न पुरस्कार देने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कई लोगों के साथ चर्चा के बाद मैंने पुनीत राजकुमार को मरणोपरांत कर्नाटक रत्न से सम्मानित करने का फैसला लिया है।  कन्नड़ सिनेमा पर राज करने वाले पुनीत, डॉ. राजकुमार के 5 बच्चों में सबसे छोटे थे। 


मरणोपरांत मिलेगा सम्मान, पिता को मिल चुका है

पुनीत के निधन के बाद से ही उन्हें मरणोपरांत पद्मश्री पुरस्कार देने की मांग की जा रही है। इस समारोह में पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा और सिद्धारमैया, बोम्मई के कैबिनेट सहयोगी, राज्य कांग्रेस प्रमुख डीके शिवकुमार, कन्नड़ और दक्षिण भारतीय फिल्मी हस्तियां शामिल थीं। दिलचस्प बात यह है कि पुनीत के दिवंगत पिता डॉ. राजकुमार को भी 1992 में कवि कुवेम्पु के साथ कर्नाटक रत्न पुरस्कार दिया गया था।

समाधि स्थल को लेकर यह है योजना

सीएम बोम्मई ने कहा कि पुनीत राजकुमार का नाम अमर करने के लिए बहुत सारे सुझाव आए हैं। मैं कहना चाहता हूं कि सरकार की इच्छा भी एक ही है। उनका अंतिम विश्राम स्थल उनके माता-पिता डॉ. राजकुमार और पर्वतम्मा राजकुमार की तरह डेवलप किया जाएगा।

बता दें एक्टर होने के साथ ही पुनीत कई सामाजिक कार्यों से भी जुड़े रहे थे। वह 1800 अनाथ बच्चों की पढ़ाई और उनके रहने की व्यवस्था की थी, इसके अलावा वृद्धों के लिए कई वृद्धाश्रम और गौशाला का भी संचालन कर रहे थे।


Find Us on Facebook

Trending News