कानून अपनी मुट्ठी में! दो ट्रकों से एक करोड़ की शराब जब्त, उधर घर में शराब पीते पकड़े गए दारोगा बाबू, एसपी ने भेजा जेल

कानून अपनी मुट्ठी में! दो ट्रकों से एक करोड़ की शराब जब्त, उधर घर में शराब पीते पकड़े गए दारोगा बाबू, एसपी ने भेजा जेल

ARWAL/KHAGDIYA : बिहार में कोरोना महामारी और लॉकडाउन के बीच जो एक धंधा है, जिस पर कोई असर नहीं पड़ा है, वह है शराब की अवैध तस्करी। रविवार को  अरवल जिले के मेहन्दिया थाना क्षेत्र में NH पर पटना उत्पाद विभाग व अरवल पुलिस की टीम ने रविवार को शराब लदे दो ट्रकों को जब्त कर लिया। दोनों ट्रकों से बरामद भारी मात्रा में शराब किया गया, जिसकी कीमत एक करोड़ के आसपास बताई जा रही है। मामले में मेहन्दिया पुलिस ने दोनों ट्रक चालकों को गिरफ्तार कर लिया है। विभागीय टीम व पुलिस दोनों से पूछताछ कर नेटवर्क का पता लगा रही है।

इस कार्रवाई को लेकर बताया गया कि उत्पाद विभाग ने गुप्त सूचना के आधार पर NH-139 पर उत्पाद विभाग व पुलिस की टीम ने वाहन जांच अभियान शुरू किया। इस दौरान औरंगाबाद की ओर से आ रहे कई ट्रकों की जांच की गई, जिसमें दो ट्रकों में बॉक्स बनाकर भारी मात्रा में छुपाकर रखी गई शराब को बरामद कर लिया गया। ट्रक के अंदर बॉक्स बनाकर उसमें शराब रखकर उसे पूरी तरह से वेल्डिंग कर ढक दिया गया था, ताकि पुलिस को भी इसकी भनक भी न लग सके। हालांकि पुलिस ने बॉक्स को गैस कटर से कटवाकर खुलवाया तो उसके अंदर से भारी मात्रा में शराब बरामद हुई।

छपरा जा रही थी खेप

 इस दौरान वाहन चालक जंतर राय और मदन धारी राय को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार चालकों से पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि औरंगाबाद सीमेंट फैक्ट्री के पास गाड़ी लगी हुई थी और उसे छपरा ले जाने के लिए कहा गया था। चालकों ने बताया कि गाड़ी के पीछे हिस्से को खाली रखा गया था, ताकि पुलिस को चकमा दिया जा सके।

खगड़िया में शराब के नशे में टुन्न मिले एसआई

बिहार में शराब के धंधे पर रोक लगाने की जिम्मेदारी पुलिस को है. लेकिन खगड़िया जिले के नगर थाना में कार्यरत एसआई राजकुमार सिंह शायद नहीं जानते कि बिहार में शराब सेवन प्रतिबंधित है। यही कारण है कि वह अपने घर में शराब पीते रंगे हाथ पकड़े गए। वह भी थाना परिसर के अंदर बने आवास पर। मामले में बताया गया कि जिले के एसपी अमितेश कुमार को यह जानकारी मिली कि दारोगा साहब अपने आवास पर शराब का सेवन कर रहे हैं। जिसके बाद उन्होंने तत्काल कार्रवाई करते हुए इंस्पेक्टर पवन कुमार सिंह को जांच कर कार्रवाई का निर्देश दिया। इसके बाद इंस्पेक्टर ने दरोगा राजकुमार सिंह को उनके आवास से उन्हें शराब पीते हुए हुए रंगेहाथ पकड़ लिया।

इंस्पेक्टर SI को हिरासत में लेकर ब्रेथ एनलाइजर से जांच की तो शराब पीने की पुष्टि हुई। इसके बाद सदर PHC में मेडिकल जांच करवाया, जिसमें SI के शरीर में 85.3 प्रतिशत अल्कोहल की पुष्टि की गई। इसके बाद नगर पुलिस ने शराबी दारोगा को गिरफ्तार कर लिया गया। नगर थाने में उसके खिलाफ उत्पाद अधिनियम की धारा 37 (B) FIR दर्ज की गई। SI राजकुमार सिंह को जेल भेजा जा रहा है।


Find Us on Facebook

Trending News