विदेश से ली मैनेजमेंट की डिग्री, अधिक पैसा कमाने के लिए एक महिला के सलाह पर करने लगा ऐसा धंधा

विदेश से ली मैनेजमेंट की डिग्री, अधिक पैसा कमाने के लिए एक महिला के सलाह पर करने लगा ऐसा धंधा

NEWS4NATION DESK : ऑस्ट्रेलिया से मीडिया मैनेजमेंट का कोर्स कर चुके युवक को गांजा सप्लाई करने के आरोप में पुलिस ने उसके दोस्त के गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से करीब डेढ़ किलो गांजा और सवा दो लाख रुपये नकद भी बरामद किए गए हैं। 

पुलिस ने बताया कि ऑर्गेनिक फ्रूट के बिजनेस में उम्मीद के मुताबिक मुनाफ नहीं मिलने पर गांजे का धंधा शुरू किया। ये लोग कॉलेज स्टूडेंट्स और बड़ी पार्टियों को टारगेट करते थे। शिलांग से थोक के भाव गांजा मंगाकर एनसीआर में बेचते थे।
 
 अधिक कमाई के लिए शुरू किया धंधा
 
 पुलिस अधिकारी ने बताया कि बीते बुधवार रात सेक्टर-74 सुपरटेक केपटाउन सोसायटी से कणव आहूजा और ग्रेनो के चाई- 4 सेक्टर एटीएस पैराडाइज सोसायटी से जसप्रीत सिंह को पकड़ा गया। कणव के कब्जे से 1 किलो 100 ग्राम गांजा, एक होंडा सिटी कार, गांजा सप्लाई में यूज होने वाले 31 खाली पैकेट और 2 लाख 36 हजार रुपये बरामद किए गए हैं।जसप्रीत सिंह के पास से 600 ग्राम गांजा बरामद हुआ है। 

सिडनी यूनिवर्सिटी से मीडिया मैनेजमेंट में किया है डिप्लोमा

कणव सरिता विहार दिल्ली का रहने वाला है। उसके पिता रियल एस्टेट कारोबारी हैं। उसने 2015 से 17 तक सिडनी यूनिवर्सिटी से मीडिया मैनेजमेंट का डिप्लोमा किया। भारत आने के बाद ऑर्गेनिक फ्रूट सप्लाई का काम शुरू किया। इस काम को करने के लिए उसने बैंक से करीब 8 लाख रुपये लोन लिया। वह शिलांग से ट्रेन के जरिए माल मंगवाता और एनसीआर में बेचता था। इस धंधे से उसे उम्मीद के मुताबिक मुनाफा नहीं मिला।

महिला की सलाह से करने लगा ऐसा धंधा
 
इसी दौरान शिलांग की एक महिला ने उसे सलाह दी कि वह आर्गेनिक फ्रूट के बजाय गांजा बेचेगा तो ज्यादा मुनाफा होगा। इसके बाद महिला के जरिए उसने शिलांग के तस्करों से संपर्क साधा और ट्रेन के जरिए गांजा मंगवाने लगा। वह पार्सल के रूप में आने वाले गांजे को गाजियाबाद स्टेशन पर रिसीव कर लेता। इसके बाद गांजे को सुपरटेक केपटाउन वाले फ्लैट पर ले जाकर छोटे पैकेटों में पैक कर सप्लाई कर देता।

सोशल मीडिया के माध्यम से करता था कारोबार

उसका सारा धंधा वॉट्सऐप पर चलता था। वह अपने परिचितों के जरिए नए ग्राहक ढूंढता और तसल्ली होने पर ही उन्हें गांजा सप्लाई करता। दिल्ली एनसीआर में होने वाली पार्टियों के लिए वह भी बड़े पैमाने पर गांजा उपलब्ध करवाता था। सीओ के अनुसार इस धंधे में कणव करीब 5- 6 महीने से और जसप्रीत सिंह एक साल से लगा हुआ था। जसप्रीत कॉलेजों में गांजा सप्लाई करता था।

Find Us on Facebook

Trending News