नहीं लिया सबक! एक मौत के बाद भी नरभक्षी बने आवारा कुत्तों को पकड़ने को लेकर नहीं दिखी गंभीरता, अब फिर वैसी ही घटना

नहीं लिया सबक! एक मौत के बाद भी नरभक्षी बने आवारा कुत्तों को पकड़ने को लेकर नहीं दिखी गंभीरता, अब फिर वैसी ही घटना

BEGUSARAI : जानवरों के मुंह में किसी इंसान का खून लग जाए तो नरभक्षी बन जाता है। बेगूसराय के बछवाड़ा में इन दिनों सड़क पर घूमनेवाले आवारा कुत्ते ऐसे ही नरभक्षी जानवर बन गए हैं। यहां एक सप्ताह पहले इन आवारा कुत्तों ने एक महिला को नोंच-नोंचकर मार डाला। लेकिन इसके बाद स्थानीय प्रशासन ने इससे कोई सबक नहीं लिया। नतीजा यह हुआ कि आज फिर वैसी ही घटना हो गई। यहां आवारा कुत्तों ने खेत देखने गई महिला की जान ले ली। मृतक महिला की पहचान स्थानीय निवासी राजकुमार शर्मा की 53 वर्षीय पति ने मीरा देवी के रूप में की गई है।

घटना जिले के बछवाड़ा थाना क्षेत्र की बछवाड़ा पंचायत के वार्ड संख्या 11 से जुड़ा बताया जा रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि बुधवार की अलसुबह मीरा देवी खेत देखने के लिए निकली थी। इसी बीच कुत्तों के झुंड ने उन पर हमला कर दिया। कुत्तों के झुंड ने महिला की जान ले ली और शरीर के दोनों हाथ, एक पैर, कलेजा समेत अन्य भाग खा गया। शौच के लिए आए कुछ लोगों ने जब कुत्तों को महिला के शव को नोंच-नोंच कर खाते देखा, तो सबके होश उड़ गए।

खेत में शव नोंचकर खा रहे थे कुत्तों 

उनके शोर मचाए जाने पर अन्य ग्रामीण भी घटनास्थल पर पहुंचे। तब तक सभी कुत्ते वहां से भाग गए। स्थानीय ग्रामीणों ने कहा कि प्रखंड क्षेत्र के कई पंचायतों में इन दिनों कुत्तों का आतंक चरम पर है। प्रशासनिक अधिकारी पंगु बने हैं। अब तक आधे दर्जन लोगों की जाने वह 2 दर्जन से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं।

इसके बावजूद अब तक प्रशासनिक स्तर पर किसी भी तरह की पहल नहीं किया जाना प्रशासनिक विफलता को दर्शाती है। स्थानीय मुखिया प्रतिनिधि राजीव चौधरी ने घटना की सूचना प्रखंड विकास पदाधिकारी अनुमंडल अधिकारी को देखकर सरकारी सहायता उपलब्ध कराने की मांग की है।

पिछले सप्ताह भी हुई ऐसी ही घटना

उल्लेखनीय है कि पिछले हफ्ते भी बेगुसराय के बछवाड़ा में कुत्तों के झुंड ने एक अन्य महिला की जान ले ली थी। थाना क्षेत्र के कादराबाद चौर में घास लाने जा रही महिला की आवारा कुत्तों के झुंड ने नोंच-नोंचकर जान ले ली। 55 वर्षीय मृतका की पहचान कादराबाद पंचायत निवासी शांति देवी के रूप में की गई है। 

घटना की जानकारी देते हुए परि‍जनों ने बताया कि शांति देवी अपने घर से हसुआ खुरपी लेकर चौर में घास लेने गई थी। इस दौरान उन्हें अकेला पाकर कुत्तों के झुंड ने उन पर हमला कर दिया। इस घटना में कुत्तों ने उनके हाथ, पेट व शरीर के अन्य हिस्से को नोंच डाला।


Find Us on Facebook

Trending News