LJP का विधान सभा चुनाव को लेकर खरी-खरी,कहा-बिहार में चुनाव कराना लोगों को मौत में मुंह मे धकेलने के समान,चुनाव आयोग करे विचार

LJP का विधान सभा चुनाव को लेकर खरी-खरी,कहा-बिहार में चुनाव कराना लोगों को मौत में मुंह मे धकेलने के समान,चुनाव आयोग करे विचार

PATNA : राजद ने भी कोरोना संकट में चुनाव नहीं कराने की वकालत की है। अब राजद के बाद एनडीए की सहयोगी लोक जनशक्ति पार्टी ने भी चुनाव आयोग को दिए सुझाव में इस संकट में विधानसभा चुनाव नहीं कराने की वकालत की है।

पार्टी के प्रधान महासचिव अब्दुल खालिक ने चुनाव आयोग को भेजे पत्र में कहा है कि आज की तारीख में बिहार में कोरोना महामारी एक विकराल रूप ले चुकी है। विशेषज्ञों का मानना है कि बिहार में आने वाले समय में खासकर अक्टूबर-नवंबर में इसका प्रकोप और भी बढ़ेगा। ऐसे समय में हमारी प्राथमिकता लोगों को इस महामारी से बचाने की होनी चाहिए। संपूर्ण तंत्र का इस्तेमाल स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर कर लोगों की जान बचाने के लिए होनी चाहिए ना कि चुनाव कराने के लिए।

पत्र में आगे कहा गया है कि कोरोना के साथ-साथ बिहार का एक बड़ा हिस्सा बाढ़ की चपेट में है। बिहार के 38 में से 13 जिले पूरी तरह से बाढ़ से ग्रस्त हैं। ऐसे में विश्व स्वास्थ्य संगठन एवं भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद द्वारा दिए गए दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए चुनाव कराना अत्यंत कठिन है।

 लोकतंत्र के लिए निष्पक्ष चुनाव का होना जरूरी है,लेकिन इसके लिए एक बड़ी आबादी को खतरे में डालना सरासर अनुचित होगा। देश में करीब 35000 से ज्यादा लोगों की मृत्यु इस बीमारी की वजह से हो चुकी है बिहार में भी आंकड़ा 280 के पार पहुंच गया है।ऐसे में चुनाव कराना जानबूझकर लोगों को मौत के मुंह में धकेलने के समान होगा। लोक जनशक्ति पार्टी ने 8 बिंदुओं पर चुनाव आयोग को सुझाव दिया है।



Find Us on Facebook

Trending News