लॉकडाउन नहीं लगाने के निर्णय से खुश हैं सुशील मोदी,कहा- सरकार ने पूर्ण लॉकडाउन से परहेज किया ताकि रोजी-रोटी पर आफत न आये

लॉकडाउन नहीं लगाने के निर्णय से खुश हैं सुशील मोदी,कहा- सरकार ने पूर्ण लॉकडाउन से परहेज किया ताकि रोजी-रोटी पर आफत न आये

PATNA : बिहार में बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर आज राज्य सरकार की ओर से कई तरह के निर्देश जारी किये गए हैं. पूर्व डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने कहा की कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए   राज्य सरकार ने 15 मई तक सभी शिक्षण संस्थान बंद रखने और नाइट कर्फ्यू लागू करने जैसे जो भी कदम उठाये हैं, उनका सबको पालन करना चाहिए. सरकार ने पूर्ण लाकडाउन से परहेज किया है, ताकि गरीबों की रोजी-रोटी पर आफत न आये. उन्होंने कहा की हम जान और जहान, दोनों बचाने की चुनौती पर विजय प्राप्त करेंगे. 

सुशील कुमार मोदी ने कहा की फिलहाल राज्य सरकार का पूरा ध्यान कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर से निपटने पर है. बिहार में अब तक 2 करोड 49 लाख से ज्यादा नमूनों की जांच हो चुकी है, जो तीन लाख लोग संक्रमित पाए गए, उनमें से 2 लाख 75 हजार से ज्यादा स्वस्थ हो चुके हैं. राज्य में रिकवरी रेट 89.79 फीसदी है. 

वहीँ राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की जमानत को लेकर उन्होंने कहा की उन्हें जमानत मिलना या रद होना एक न्यायिक प्रक्रिया है. इससे बिहार की राजनीति और न्याय के साथ विकास की प्रशासनिक संस्कृति पर कोई असर नहीं पड़ेगा. 

वहीँ पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने कोरोना के नई गाईड लाईन का स्वागत किया है. उन्होंने लॉक डाउन ना करने के फ़ैसले को लेकर नीतीश कुमार को धन्यवाद दिया है. उन्होंने कहा की कोरोना के मद्देनज़र राज्य सरकार प्राईवेट डाक्टरों की भी सेवा लें. वर्तमान हालात में ग्रामीण क्षेत्रों में भी चिकित्सकों को लगाया जाए एवं वहाँ भी कोविड वार्ड की व्यवस्था हो. 

पटना से विवेकानंद की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News