लॉकडाउन में छिन गया था काम, अब फिर से पटरी पर लौटगी जिंदगी

लॉकडाउन में छिन गया था काम, अब फिर से पटरी पर लौटगी जिंदगी

पटना। लॉकडाउन के कारण सबसे ज्यादा परेशानी सड़क किनारे  सब्जी वाले, फल वाले, चाय, पकौड़े, ब्रेड, अंडे,  और कपड़े, दस्तकारी उत्पाद और किताबें/कॉपियां बेचने वाले दुकानदारों का धंधे पर काफी प्रभाव पड़ा था। कई लोगों के पास पूंजी की कमी के कारण दोबारा काम शुरु करने के लिए पैसे नहीं थे। ऐसे लोगों के लिए प्रधानमंत्री ने  प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि योजना आरंभ किया। अब राजधानी पटना में भी इस योजना का लाभ स्ट्रीट वेंडरों को मिलने लगा है। 

पटना से सटे सूफी संतो के की नगरी फुलवारीशरीफ में नगर परिषद अध्यक्ष आफताब आलम के द्वारा प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि योजना के तहत फुलवारीशरीफ के ३२५ वेंडरों के बीच वेंडरकार्ड और वेंडर सर्टिफिकेट बांटा गया। इस वेंडर कार्ड से वेंडरों को 10 हज़ार का लोन कम व्याज दरों पर मिल सकता है। साथ ही जहाँ भी वेंडर जोन बनेगा वहाँ पर उन्हें जगह दी जायेगी।

 इस मौके पर आफ़ताब आलम ने बताया कि इस वेंडर कार्ड से वेंडरों को अनेकों फायेदे होंगे। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री ने इस साल जून में इस योजना की शुरुआत की थी। सरकार का मकसद है कि सड़क किनारे ठेले लगाकर सामान बेचने वाले ऐसे दुकानदारों को इस स्कीम से लाभ मिले और वो दोबारा अपने छोटे कारोबार को पटरी पर ला सकें. सस्ती दरों पर मिलने वाले इस सरकारी लोन की स्कीम को जून 2020 में लॉन्च किया गया. इसकी विशेषता है कि इसके तहत बांटे गए लोन के लिए किसी तरह की गारंटी नहीं ली जाती है. 


Find Us on Facebook

Trending News