मायावती ने की मुस्लिमों से बीजेपी को हराने की अपील, बोलीं-वोट न बंटने दें

मायावती ने की मुस्लिमों से बीजेपी को हराने की अपील, बोलीं-वोट न बंटने दें

चुनाव जीतने को लेकर नेता तरह-तरह के हथकंडे अपनाते हैं। यूपी में चुनाव जीतने को लेकर बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने धर्म का सहारा लिया है। यूपी के देवबंद में बहुजन समाज पार्टी, समाजवादी पार्टी और लोकदल की पहली संयुक्‍त रैली में बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने वेस्‍ट यूपी के मुसलमानों से अपील की कि वे कांग्रेस के झांसे में न आएं और बीजेपी को हराने के लिए गठबंधन के उम्‍मीदवारों को वोट दें। बीएसपी सुप्रीमो ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस पर भी जमकर हमला बोला। मायावती ने कहा कि महागठबंधन की महारैली में उमड़ी भीड़ के बारे में जब पीएम मोदी को जानकारी मिलेगी तो वह घबराकर पगला जाएंगे ।


मायावती ने कहा कि पश्चिम यूपी में सभी धर्मों के लोग रहते हैं। सहारनपुर, मेरठ, मुरादाबाद और बरेली मंडल में मुस्लिम समाज की आबादी काफी ज्यादा है। मायावती ने कहा कि मैं इस चुनाव में मुस्लिम समाज के लोगों को सावधान करना चाहती हूं कि पूरी यूपी में कांग्रेस बीजेपी को टक्कर देने के लायक नहीं है, ऐसा सिर्फ गठबंधन ही कर सकता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस मानकर चल रही है हम जीतें या न जीतें गठबंधन नहीं जीतना चाहिेए। इसलिए उसने बीजेपी को फायदा पहुंचाने वाले उम्मीदवार उतारे हैं।

मायावती ने मुस्लिमों व धार्मिक अल्पसंख्यकों का मुद्दा भी देवबंद की रैली से उठाया. उन्होंने कहा कि मुस्लिम व धार्मिक अल्पसंख्यक की हालत खराब है. सच्चर कमेटी की रिपोर्ट से भी इसका पता चलता है. मायावती ने कहा कि केंद्र व अधिकांश राज्यों में बीजेपी की सरकारों के चलते भी मुस्लिमों का विकास होना बंद हो गया है. साथ ही उन पर जुल्म भी बढ़ गए हैं.

 मायावती ने कहा कि अब कांग्रेस भी ऐसे वादे कर रही है. उन्होंने कहा, 'कांग्रेस के मुखिया ने देश के अति गरीब लोगों के मतों को लुभाने के लिए हर महीने 6 हजार रुपये देने की जो बात कही है, उससे गरीबी का कोई स्थायी हल निकलने वाला नहीं है. अगर केंद्र में हमें सरकार बनाने का मौका मिलता है तो हर महीने सरकारी व गैर-सरकार क्षेत्रों में स्थायी रोजगार देने की व्यवस्था करेगी.'

Find Us on Facebook

Trending News