विपक्ष को चुनाव आयोग से बड़ा झटका, कल नहीं बदलेगा मतगणना का तरीका

विपक्ष को चुनाव आयोग से बड़ा झटका, कल नहीं बदलेगा मतगणना का तरीका

NEW DELHI : ईवीएम को लेकर हायतौबा मचा रही विपक्षी पार्टियों को चुनाव आयोग से बड़ा झटका लगा है। चुनाव आयोग ने वीवीपैट मिलान की उस मांग को ठुकरा दिया है, जिसमें 50 फीसदी पर्चियों के मिलान की बात कही जा रही थी। चुनाव आयोग ने एक लंबे मंथन के बाद कहा है कि वीवीपैट पर्चियों की गिनती में कोई बदलाव नहीं होगा। जिस हिसाब से गिनती होनी थी, उसी हिसाब से होगी। बता दें कि विपक्ष की कई पार्टियों ने चुनाव आयोग से मांग की थी, वीवीपैट की पचास फीसदी पर्चियों का मिलान हो।

ईवीएम-वीवीपीएटी के मुद्दे पर चुनाव आयोग ने अपनी बड़ी बैठकर कर इस संबंध में फैसला लिया। इस बैठक में आयोग के सीनियर अधिकारियों के साथ चुनाव आयुक्त अशोक लवासा भी मौजूद रहे। सूत्रों का कहना है कि बैठक में इस बात पर भी चर्चा हुई कि यदि आयोग विपक्षी दलों की मांग पर राजी होता है मतगणना में 2-3 दिन का समय लग सकता है।

बता दें कि लोकसभा चुनाव के नतीजे आने से पहले मंगलवार को कांग्रेस, एसपी, टीएमसी समेत 22 दलों ने चुनाव आयोग के अधिकारियों से मुलाकात की थी। विपक्ष ने चुनाव आयोग से मांग की थी कि 23 मई को मतगणना शुरू होने से पहले बिना किसी क्रम के चुने गए पोलिंग स्टेशनों पर वीवीपीएटी पर्चियों की जांच की जाए। उधर, चुनाव आयोग ने बयान जारी कर स्ट्रांगरूम्स में रखे गए ईवीएम की सुरक्षा को लेकर जाहिर की जा रही तमाम आशंकाओं को खारिज कर दिया है।

Find Us on Facebook

Trending News