रमजान पर सियासत: चुनाव आयोग बोला- त्योहारों का रखा ध्यान, शुक्रवार को नहीं मतदान

 रमजान पर सियासत: चुनाव आयोग बोला- त्योहारों का रखा ध्यान, शुक्रवार को नहीं मतदान

NEW DELHI : रमजान में मतदान पर जारी घमासान को लेकर चुनाव आयोग ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। चुनाव आयोग ने कहा है कि रमजान पूरे महीने चलता है, ऐसे में चुनाव नहीं टाले जा सकते थे। आयोग ने ये कहा कि तारीख तय करते वक्त मुख्य त्योहारों और जुमे का ध्यान रखा गया है। चुनाव आयोग का यह बयान उस मौके पर आया है, जब कई पार्टियां रमजान में मतदान होने के फैसले का विरोध कर रही हैं।

क्या कहा चुनाव आयोग ने

चुनाव आयोग ने कहा कि 2 जून से पहले नई सरकार का गठन होना जरूरी था। ऐसे में इसे और टाला नहीं जा सकता था। साथ ही एक महीने तक चुनाव न हों, ऐसा भी संभव नहीं था। इसलिए आयोग ने इस बात का पूरा ध्यान रखा है कि किसी भी शुक्रवार को अथवा किसी फेस्टिवल के दौरान मतदान न हो। चुनाव आयोग का कहना है कि हमारे पास इन तारीखों को बदलने का अथवा चुनाव के समय को आगे-पीछे करने का विकल्प ही नहीं था।
 
 बता दें कि तीन राज्यों पश्चिम बंगाल, बिहार और उत्तर प्रदेश में वोटिंग की तारीखें रमजान के महीने में पड़ रही हैं। ऐसे में मुस्लिम नेताओं और मौलानाओं ने चुनाव आयोग की मंशा पर सवाल उठाया है। इतना ही नहीं उन्होंने इन तारीखों में बदलाव की मांग की है।

Find Us on Facebook

Trending News