ट्रेन में हवस के दरिंदे : जीविका मित्र को जबरन ट्रेन से उतारा, गैंगरेप के बाद कर दी हत्या, झाड़ियों में मिला शव

ट्रेन में हवस के दरिंदे : जीविका मित्र को जबरन ट्रेन से उतारा, गैंगरेप के बाद कर दी हत्या, झाड़ियों में मिला शव

AURANGABAD : गया-डीडीयू रेलखंड में एक दिल दहलाने वाली खबर सामने आई है। रुट में ट्रेन में सफर कर रहे हवस के दरिंदों एक युवती को जबरन ट्रेन से उतारकर न सिर्फ उसके साथ गैंगरेप किया, बल्कि उसकी हत्या के बाद लाश को झाड़ियों में फेंक कर फरार हो गए। शुक्रवार शाम को लाश मिलने के बाद परिजन के साथ गांववाले भी आक्रोशित हो गए और विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। हालांकि पुलिस की तरफ से अभी युवती से दुष्कर्म की पुष्टि नहीं की गई है।

मामला औरंगाबाद जिले के फेसर थाना क्षेत्र से जुड़ा बताया जा रहा हैं जहां जीविका मित्र का काम करनेवाली 25 वर्षीय युवती 18 नवंबर को अपनी जेठानी एवं ननद के साथ बघोई स्टेशन से ट्रेन पर सवार होकर रफीगंज बाजार गई थी। बाजार से लौटते समय उसकी ननद रफीगंज स्टेशन पर छूट गई। तब वह अपनी गोतनी के साथ पंडित दीनदयाल उपाध्याय-गया रेलखंड के जाखिम स्टेशन पर उतर गई।

ननद के पास पहुंचने से पहले दरिंदों का हुई शिकार

परिजनों ने बताया कि अपनी गोतनी को जाखिम स्टेशन पर छोड़ने के बाद वह धनबाद-डिहरी इंटरसिटी ट्रेन से साली को रिसीव करने के लिए रफीगंज जा रही थी। लेकिन युवती की किस्मत में साली तक पहुंचना नहीं था, क्योंकि ट्रेन में पहले से मौजूद हवस के दरिंदों की नजर उस पर लग गई थी। 

अकेली होने का उठाया फायदा, चेन खिंचकर युवती को जबरन उतारा

मनचलों ने युवती को अकेली देखकर जाखिम एवं देव रोड स्टेशन के बीच ट्रेन को वैक्यूम ने रोक दिया। इसके बाद जबरन युवती को ट्रेन से उतार ले गए। यहां से उसे रफीगंज थाना क्षेत्र के गरवा गांव के बधार में ले जाकर दुष्कर्म किया। इसके बाद साक्ष्‍य छिपाने के उद्देश्‍य से उसकी हत्‍या कर दी। बाद में शव को झाड़ियों में फेंक दिया। 

शुक्रवार शाम को मिला शव

शुक्रवार शाम शव बरामद होने के बाद लोग आक्रोशित हो गए। शनिवार सुबह स्‍वजनों व ग्रामीणों ने सदर अस्पताल गेट पर प्रदर्शन किया। हत्यारों को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग की। ग्रामीणों का आरोप था कि 25 वर्षीय युवती के साथ सामूहिक दुष्‍कर्म करने के बाद हत्‍या की गई है। साक्ष्‍य छिपाने के उद्देश्‍य से शव को झाड़ियों में फेंक दिया गया है। 

हंगामे की सूचना पर सदर अस्पताल पहुंचे एसडीपीओ गौतम शरण ओमी ने लोगों को समझा-बुझाकर शांत कराया। उन्‍होंने कहा कि वैज्ञानिक तरीके से घटना की जांच की जा रही है। जो भी दोषी होंगे, उन्‍हें गिरफ्तार कर सजा दिलाई जाएगी। हत्‍या के तरीके का पता पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट से होगा। फिलहाल पुलिस दुष्‍कर्म की पुष्टि नहीं कर रही है।

Find Us on Facebook

Trending News