जन्म देने के बाद मां ने नवजात को खेत में मरने के लिए छोड़ा, बच्चे के रोने की आवाज से लोगों को मिली जानकारी

जन्म देने के बाद मां ने नवजात को खेत में मरने के लिए छोड़ा, बच्चे के रोने की आवाज से लोगों को मिली जानकारी

कैमूर। जिले के दुर्गावती में मानवता को शर्मसार करने वाली एक घटना सामने आई हैं। जहां एक दुधमुंही बच्ची को उसके माँ ने जन्म के बाद खुले आसमान के नीचे अरहर के खेत में फेंक दिया।  उस निर्दयी मां को जरा भी अपने मासूम बच्ची पर दया नहीं आई, जिसे वह खुले आसमान के नीचे अरहर के खेत में मरने के लिए छोड़ आई। लेकिन बच्चे की किस्मत में दुनिया को देखना बाकि था।

मामला दुर्गावती थाना क्षेत्र के रोहुआं गांव की है। जहां एक नवजात बच्ची अरहर के खेत में पड़ी थी। वहीं सुबह में गांव के लोग जब शौच के लिए खेतों की तरफ बढ़े तभी नवजात बच्चे के रोने की आवाज सुनाई दे रही थी। आवाज सुनकर जब नजदीक गया तो देखा की एक दूध मुंही बच्ची रो रही थी। इसकी सूचना जैसे ही गांव में पहुंची उसी समय रोहुआ गांव की एक महिला ने फौरन बच्ची को अपने गोद में लेकर घर लाई जहां उस बच्ची सबसे पहले दूध पिला कर निष्ठा से उसके सेवा भाव में लग गई।

नवजात बच्ची को पाने की सूचना  दुर्गावती थाना एवं चाइल्डलाइन विभाग को दिया गया। दुर्गावती पुलिस एवं चाइल्ड लाइन की टीम ने रोहुआ गांव पहुंच कर उस महिला एवं नवजात बच्ची को थाने ले आई जहां उस बच्ची को पुलिस ने चाइल्ड लाइन विभाग को सौंपना चाहा। लेकिन नवजात बच्चे को पाने वाली महिला ने देने से इनकार करने लगी।

महिला का कहना था कि बच्चे का पालन पोषण हम करेंगे लेकिन थानाध्यक्ष संजय कुमार के द्वारा कड़ी मशक्कत एवं काफी समझाने बुझाने के बाद तब जाकर महिला ने नवजात बच्ची को चाइल्डलाइन विभाग के हाथों में सौंपा। वहीं चाइल्ड लाइन की टीम ने बच्ची को अपने कब्जे में लेकर मेडिकल कराने के बाद चाइल्ड लाइन भभुआ भेजने की तैयारी में जुट गई ।

इधर चाइल्ड लाइन विभाग के टीम लीडर विनोद कुमार यादव ने बताया कि दुर्गावती थाना क्षेत्र के रोहुआ गांव से एक नवजात बच्ची मिली है जहां उस बच्ची को हम लोगों ने अपने कब्जे में लेकर नवजात बच्ची की स्वास्थ्य जांच कर चाइल्ड लाइन भभुआ भेज दिया ।

Find Us on Facebook

Trending News