मछली मारने गई पुलिस को ग्रामीणों ने मारना शुरू कर दिया, जानिए क्यों

मछली मारने गई पुलिस को ग्रामीणों ने मारना शुरू कर दिया, जानिए क्यों

समस्तीपुर। बंदोबस्ती के लिए तालाब की मछलियों को मरवाने पहुंची पुलिस बल को ग्रामीणों के विरोध का सामना करना पड़ गया, जब सैंकड़ों की संख्या में पहुंचे ग्रामीणों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। बताया जा रहा है कि इस मामले में कुछ पुलिसकर्मी घायल हो गए है। फिलहाल हालत पर नियंत्रण करने की कोशिश की जा रही है। 

मामला जिले के सिंघिया थाना क्षेत्र से जुड़ा है। जहां के भरिसोर गांव में तालाब में बंदोबस्ती का काम किया जाना था, जिसका काम पड़ोस के जुदेली ग्राम के मुखिया की पत्नी और सरोज मुखिया की पत्नी को प्रशासन ने दिया था। जिसके बाद उन्होंने तालाब की मछलियों को मरवाने में पुलिस से सहयोग करने की मांग की थी। इसी मामले में मंगलवार को पुलिस बल तालाब के पास पहुंची थी। जहां पहले से मौजूद ग्रामीणों ने पुलिस के काम का विरोध करना शुरू कर दिया।

मछली मारने के खिलाफ थे ग्रामीण

एक तरफ पुलिस बंदोबस्ती के लिए तालाब की मछलियों को मारने की तैयारी कर रहे थे, वहीं दूसरी तरफ ग्रामीण इसके खिलाफ थे। ग्रामीणों का कहना था कि तालाब की मछलियों को मारे जाने से उनकी रोजी पर असर पड़ेगा, जो मंजूर नहीं है। इस बात को लेकर दोनों पक्षों में विवाद शुरू हो गया और लोगों ने पुलिस के खिलाफ पथराव शुरू कर दिया।  ग्रामीणों ने आक्रोशित होकर पुलिस को निशाना बनाया। बाद में पुलिस ने भी भीड़ को काबू करने के लिए लाठीचार्ज किया ।घटना की सूचना मिलते ही वरिय पदाधिकारी मौके पर पहुच कैम्प कर रहे हैं। पुलिस के सीनियर अधिकारियों का कहना है कि कुछ उपद्रवी तत्वों द्वारा विरोध किया जा रहा है. जिनके खिलाफ कार्रवाई की तैयारी की जा रही है

कब्जे को लेकर चल रही थी लड़ाई

मामले में बताया गया कि कुछ लोग इस सरकारी तालाब पर कब्जा करने की कोशिश में हैं, जिनमें लंबे समय से विवाद पर चल रहा है। जिसको लेकर पहले भी झगड़े हो चुके हैं।


Find Us on Facebook

Trending News