मुझे प्राप्त है जनता का आशीर्वाद, मां जानकी की भूमि को समस्याओं से मुक्त करके ही दम लूंगा-माधव चौधरी

मुझे प्राप्त है जनता का आशीर्वाद, मां जानकी की भूमि को समस्याओं से मुक्त करके ही दम लूंगा-माधव चौधरी

N4N DESK : माधव चौधरी के सीतामढ़ी के चुनावी रण में बतौर निर्दलीय कूदने के बाद लड़ाई त्रिकोणात्मक हो गयी है. बताया जाता है कि उनके मैदान में उतरने के बाद से एनडीए प्रत्याशी सुनील कुमार पिंटू के पसीने छूट रहे हैं. लिहाजा सत्तापक्ष के नेता सीतामढ़ी के चर्चित चेहरा माधव चौधरी को रोकने की हर मुमकिन कोशिश कर रहे हैं. बताया जाता है कि माधव चौधरी जिस भी इलाके में जाते हैं वहां के लोग से मिलकर उनका हालचाल लेते हैं, उनकी समस्या जानते हैं और यथासंभव समाधान निकालने की कोशिश करते हैं. इसी बात से लोगों के बीच अपनी गहरी पैठ बना ली है. बता दें कि सीतामढ़ी में माधव चौधरी का मुकाबला एनडीए उम्मीदवार सुनील कुमार पिन्टू और महागठबंधन के अर्जुन राय से है.

जनता उनके साथ है तो कोई नहीं बिगाड़ सकता

सीतामढ़ी के निर्दलीय प्रत्याशी माधव चौधरी ने कहा कि उनकी लोकप्रियता से विरोधी खेमा परेशान हो गया है. सबसे अधिक परेशानी सत्तापक्ष के उम्मीदवार को है. लिहाजा हर तिकड़म अपनाया जा रहा. लेकिन जिसके साथ जनता है उसका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता. माधव चौधरी ने कहा कि यह तो तब स्पष्ट हो गया जब नामांकन पर्चा दाखिल करने पहुंचे तो पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया.  बार-बार वे यह कहते रहे कि वे बेल पर हैं फिर भी सिर्फ डराने और परेशान करने के मकसद से उन्हें डिटेन किया गया. 

सीतामढ़ी से जीत का परचम लहराउंगा

सीतामढ़ी के प्रत्याशी माधव चौधरी ने कहा कि वे जनता के हर दुख-दर्द में शामिल रहते हैं. वे ऐसे चुनावी नेता नहीं हैं जो सिर्फ वोट के समय ही वोटरों के बीच जाते हैं. माधव चौधरी कहते हैं कि जहां भी वे जाते हैं उन्हें हमेशा लगता है कि वे अपनो के बीच हैं. उन्होंने कहा कि उन्हें क्षेत्र के लोगों का अपार प्रेम और समर्थन मिल रहा है. जनता के समर्थन के बल पर वे इस बार सीतामढ़ी से लोकसभा चुनाव जितेंगे.

समस्याओं के मकडजाल में फंसी है जनता

सीतामढ़ी के कई समस्या है जिसे आज तक किसी राजनेता ने सुलझाने की कोशिश नहीं की है. सीतामढ़ी से पहले अर्जुन राय सांसद रह चुके हैं. लेकिन उन्होंने क्षेत्र के लिए क्या किया है यह सबके सामने है. जदयू उम्मीदवार सुनील कुमार पिंटू कई बार विधायक रहे हैं. बिहार सरकार में पर्यटन मंत्री रहे हैं. लेकिन जब वे अपने विधानसभा क्षेत्र के लिए कुछ नहीं किया तो वे पूरे जिले और संसदीय क्षेत्र के लिए क्या करेंगे. इस कारण लोग अपने जनप्रतिनिधियों से रुष्ट हैं. ऐसे नेताओं को चुनाव में जनता पराजित कर सबक सिखायेगी. माधव चौधरी ने कहा कि सीतामढ़ी का विकास ही उनका लक्ष्य है.

बता दें कि सीतामढ़ी में अमित चौधरी उर्फ माधव चौधरी चर्चित और लोकप्रिय राजनेता हैं. वर्ष 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव में सीतामढ़ी के सुरसण्ड विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में लड़े और दूसरे स्थान पर रहे.

Find Us on Facebook

Trending News