विश्व के मानचित्र पर जल्द दिखेगा मधुबनी का ऐतिहासिक सौराठ सभा गाछी, पर्यटन केंद्र बनाने की मांग ने पकड़ी जोर

विश्व के मानचित्र पर जल्द दिखेगा मधुबनी का ऐतिहासिक सौराठ सभा गाछी, पर्यटन केंद्र बनाने की मांग ने पकड़ी जोर

डेस्क... बिहार के मधुबनी जिले में  विश्व प्रसिद्ध सैराठ सभा गाछी को पर्यटन केंद्र बनाने की मांग जोर पकड़ने लगी है। स्वराज सभा समिति की ओर से इसके लिए पर्यटन निदेशक से मांग की गई है। साथ ही जल्द ही समिति का एक शिष्टमंडल बिहार सरकार के पर्यटन मंत्री से मिलकर अपनी इस मांग को रखेगी। इस बात की जानकारी सौराठ सभा समिति के सचिव शेखर चंद्र मिश्र ने दी।

शेखर चंद्र मिश्र ने बताया कि सैराठ सभा की पुरानी गरिमा ही पर्यटन केंद्र बनाने की शर्तों को पूरा करती है। सौराठ सभा गाछी विश्व प्रसिद्ध वैवाहिक सभा को लेकर ख्याति प्राप्त तो है ही साथ ही अब मिथिला चित्रकला प्रशिक्षण संस्थान को लेकर विश्व के मानचित्र पर यह उभरेगी। वहीं, ग्रामीणों ने सभागाछी में बने कुंआ, रामयज्ञ मंडल समेत माधवेश्वरनाथ महादेव मंदिर की सूरत बदलने में लगे हुए हैं। 

सबसे पहले ऐतिहासिक कुंआ का उद्धार हुआ, फिर वहीं पास में बने राम यज्ञ मंडप का काया पलट किया। वहीं एनआरआई पवन कुमार मिश्र अपने गांव आए तो पता चला कि माधेश्वरनाथ मंदिर में अंधेरा पसरा हुआ है। ग्रामीणों ने उनसे कहा कि यहां रोशनी की आवश्यकता है। इसके बाद उन्होंने बताया कि जितने लाइट की जरूरत है आप लोग पता करके बताएं एलईडी की व्यवस्था कर देंगे।

पवन की ओर से आश्वासन मिलते ही युवा में एक नई ऊर्जा आई, फिर युवा टीम ने इस कार्य को करने में लग गई। माधव विश्वनाथ मंदिर परिसर ही नहीं, बल्कि आसपास की जगह भी रोशनी हो गया है। इस कार्य को पूरा करने में माधवेश्वरनाथ महादेव मंदिर के प्रधान पुजारी मोहन झा समेत अन्य ग्रामीण सक्रिये रहे। 


Find Us on Facebook

Trending News