महाबोधि सोसायटी ऑफ इंडिया करेगा अध्ययन केन्द्र का स्थापना, बौद्ध धर्म और पालि भाषा होगा अध्ययन

महाबोधि सोसायटी ऑफ इंडिया करेगा अध्ययन केन्द्र का स्थापना, बौद्ध धर्म और पालि भाषा होगा अध्ययन

GAYA : महाबोधि सोसायटी ऑफ इंडिया की ओर से बोधगया में बौद्ध धर्म और पालि भाषा के लिए अध्ययन केन्द्र स्थापित किया जायेगा. यह जानकारी रविवार को आयोजित प्रेस वार्ता में महासचिव भिक्षु पी सिवली थेरो ने दी. उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में बोधगया स्थित विभिन्न बौद्ध मठों के प्रभारी के साथ बैठक की गई है. 

उन्होंने कहा की शुरू में बौद्ध अध्ययन और पालि भाषा में छह माह का सर्टिफिकेट कोर्स कराया जाएगा. बाद में किसी विश्वविद्यालय से संबद्धता प्राप्त कर डिग्री कोर्स शुरू किया जायेगा. इसके अलावा बुद्धिस्ट मेडिटेशन, सर्टिफिकेट इन इंगेज बुद्धिज्म आदि की शिक्षा दी जाएगी.

 इंटरनेशनल बौद्ध अध्ययन केंद्र का मकसद है दुनिया के सभी बुद्धिष्ट कंट्री के छात्र यहां अध्यन करने आ सकते हैं. स्कॉलर को बीएचयू और नालंदा से बुलाया जाएगा.

उन्होंने कहा की इसकी शुरुआत सरकार और अन्य देशों के यूनिवर्सिटी से संबन्ध जोड़कर किया जाएगा. तत्काल 80 फुट मूर्ती के पास महाबोधि विद्यालय में यह केंद्र शुरू किया जाएगा. फिलहाल अभी थाई, वियतनाम, म्यांमार आदि देशों के 100 छात्रों का नामांकन होगा. 17 सितंबर अनागरिक धम्मपाल की जयंती अवसर पर इसकी प्रक्रिया शुरू की जाएगी.

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News