दो सीटों पर महागठबंधन में माथापच्ची जारी, कैंडिडेट को लेकर उधेड़बुन में आलाकमान

दो सीटों पर महागठबंधन में माथापच्ची जारी, कैंडिडेट को लेकर उधेड़बुन में आलाकमान

न्यूज4नेशन डेस्क-  महागठबंधन भले ही बिहार से एनडीए को उखाड़ फेंकने का दावे कर रहा हो लेकिन हकीकत यही है कि सियासी मजबूरी की वजह से महागठबंधन के घटक दल अब कई सीटों पर अपने उम्मीदवार का एलान भी नहीं कर पाए हैं। महाघटबंधन के घटल दल कांग्रेस और राजद चंपारण इलाके से जुड़ी दो लोकसभा सीटों पर अबतक उम्मीदवार तलाशने का काम पूरा नहीं कर पायी है।

बिहार की वाल्मीकि नगर सीट कांग्रेस के खाते में गई है। वहां से कांग्रेस ने अबतक अपने प्रत्याशी घोषित नहीं किए हैं। सिर्फ नामों की चर्चा हो रही है।लेकिन वहां से कौन उम्मीदवार होगा अबतक रहस्य ही बना हुआ है। कभी कांग्रेस का दामन थामने वाले कीर्ति आजाद की वाल्मीकिनगर से चुनाव लड़ने की चर्चा होती है तो फिर बीजेपी के बगहा से विधायक आरएस पाण्डेय की।हालांकि आरएस पाण्डेय कांग्रेस की टिकट को लेकर दिल्ली की दौड़ लगा रहे हैं। वे अभी हाल में ही दिल्ली में बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल से भी मुलाकात की थी। लेकिन अबतक बात नहीं बन पायी है। 

वही हाल राजद का भी है.राजद के लिए शिवहर सीट गले की फांस बन गयी है। इस सीट को लेकर लालू प्रसाद के घर में ही विवाद हो गया है। लालू के लाल तेजप्रताप वहां से एक अपने एक खास आदमी को टिकट दिलवाना चाहते हैं। टिकट को लेकर उन्होंने परिवार से बगावत भी कर दिया है। लिहाजा अब तक शिवहर सीट से राजद ने अपने प्रत्याशी की घोषणा नहीं की है।

महागठबंधन भले ही एनडीए को उखाड़ फेंकने का दंभ भर रही हो लेकिन अबतक वो चुनाव के मैदान में खुद स्थिर नहीं हो पाया है। शिवहर और वाल्मिकीनगर के महागठबंधन के नेता और कार्यकर्ता विचलित हैं। घटक दल के नेताओं और कार्यकर्ताओं को समझ में नहीं आ रहा कि आगे क्या होगा। क्योंकि अबतक महागठबंधन प्रत्याशी ही खोज रहा है।जबकि एनडीए के उम्मीदवार धुआंधार प्रचार में जुटे हैं।ऐसे में महागठबंधन नेताओं का मनोबल धीर-धीरे गिरते जा रहा है।


Find Us on Facebook

Trending News