महागठबंधन में खटपट जारी, कुशवाहा के बाद अब कांग्रेस ने कह दी यह बड़ी बात

महागठबंधन में खटपट जारी, कुशवाहा के बाद अब कांग्रेस ने कह दी यह बड़ी बात

DESK : बिहार में चुनाव की तारीखों का ऐलान हो चुका है। शुक्रवार को निर्वाचन आयोग ने घोषणा की कि तीन चरणों में 28 अक्टूबर, 3 और 7 नवम्बर को चुनाव कराए जाएंगे। बिहार विधान सभा चुनाव में मुख्य लड़ाई एनडीए और महागठबंधन के बीच होनी है। लेकिन सत्ताधारी एनडीए को टक्कर देने से पहले ही महागठबंधन बिखरता नजर आ रहा है। महागठबंधन में सीटों और सीएम चेहरे को लेकर तनातनी जारी है। 

वैसे तो महागठबंधन के नेता साथ मिलकर चुनाव लड़ने की बात कर रहे हैं लेकिन आरजेडी के नेता तेजस्वी यादव को सीएम चेहरा बनाए जाने को लेकर महागठबंधन में शामिल दल एकमत नहीं हैं। राजद के बाद महागठबंधन का सबसे बड़ा दल कांग्रेस ने भी सीएम चेहरे को लेकर बड़ा बयान दिया है। कांग्रेस के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने कहा है कि अभी महागठबंधन में सीएम का चेहरा तय नहीं हुआ है।

तेजस्वी यादव को सीएम पेश करने के राजद के फैसले पर गोहिल ने कहा कि हर पार्टी को अपना नेता देने का अधिकार है। अगर आरजेडी अपना सीएम चेहरा घोषित करती है तो इसमें किसी को ऐतराज नहीं होना चाहिए। लेकिन जब बात महागठबंधन के सीएम चेहरे पर आती है तो सभी पार्टियों के साथ आपस में बात करेंगे और उसके बाद फैसला करेंगे। इसमें कोई दिक्कत नहीं है और अभी इसके लिए समय भी है। 

गोहिल ने कहा कि चुनाव पूर्व और बाद में सीएम चेहरा तय करने का विकल्प खुला है। अगर लगता है कि चुनाव पूर्व गठबंधन का सीएम चेहरा घोषित करना जरूरी है तो ऐसा करने में कोई समस्या नहीं होगी। नहीं तो हम बिना सीएम चेहरे के भी एकजुट होकर चुनाव लड़ेंगे।

बता दें कि आरजेडी नेता तेजस्वी को महागठबंधन का मुख्यमंत्री का स्वघोषित चेहरा बनाए जाने पर पहले से ही कई दल नाराज चल रहे हैं। गुरुवार को महागठबंधन के महत्वपूर्ण घटक रालोसपा के नेता उपेंद्र कुशवाहा ने साफ कह दिया था कि उनकी पार्टी तेजस्वी यादव के नेतृत्व वाले आरजेडी के साथ चुनाव लड़ने को तैयार नहीं है। इससे पहले जीतनराम मांझी महागठबंधन का साथ छोड़कर एनडीए के साथ जा चुके हैं।

Find Us on Facebook

Trending News