महावीर मन्दिर में बना स्थाई ऑक्सीजन बैंक, आचार्य किशोर कुणाल ने किया शुभारम्भ

महावीर मन्दिर में बना स्थाई ऑक्सीजन बैंक, आचार्य किशोर कुणाल ने किया शुभारम्भ

PATNA : महावीर मन्दिर में स्थाई ऑक्सीजन बैंक की शुरुआत हो गई है। मंगलवार को 135 छोटे- बड़े सिलेंडरों के साथ महावीर मन्दिर न्यास के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने शुभारंभ किया। इनमें 100 छोटे सिलेंडर हैं जिन्हें मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत होने पर उपलब्ध कराया जाएगा। 35 बड़े सिलेंडरों में ऑक्सीजन स्टाॅक रहेगा। बीस हजार रुपये सिक्योरिटी डिपोजिट कर जरूरतमंद ऑक्सीजन भरा सिलेंडर घर ले जा सकते हैं। एक सप्ताह तक यह मान्य होगा। इस दौरान ऑक्सीजन की रिफिलिंग निःशुल्क होगी। संबंधित डॉक्टर के परामर्श पर अनुमति लेकर अधिक दिनों तक सिलेंडर का उपयोग किया जा सकेगा। इस विस्तारित अवधि में भी रिफिलिंग निःशुल्क होगी। बगैर अनुमति के एक सप्ताह से अधिक सिलेंडर रखने पर सिक्योरिटी डिपोजिट की राशि से कटौती की जाएगी। सिलेंडर वापस नहीं करने पर सिक्योरिटी डिपोजिट वापस नहीं मिलेगा। 

30 अप्रैल से सेवा शुरू

आचार्य किशोर कुणाल ने बताया कि कोरोना संक्रमण काल में गंभीर मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत को देखते हुए 30 अप्रैल से महावीर मन्दिर में निःशुल्क ऑक्सीजन रिफिलिंग सेवा शुरू की गई है जो अब भी जारी है। किन्तु मरीजों को खाली सिलेंडर मिलने में कठिनाई हो रही थी। काफी प्रयास के बाद फरीदाबाद और अहमदाबाद से ऑक्सीजन सिलेंडर मंगाए गए हैं। गुजरात के जामनगर और अहमदाबाद से रेगुलेटर मंगाया गया है। अब किसी भी मरीज को जरूरत पड़ने पर महावीर मन्दिर से सिलेंडर के साथ ऑक्सीजन मिल जाएगा। यह सेवा भी निःशुल्क है। सिक्योरिटी डिपोजिट का प्रावधान इसलिए रखा गया है कि लोग अपनी जरूरत के बाद सिलेंडर लौटा दें ताकि दूसरे जरूरतमंद को दिया जा सके। 

दो ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भेट किया

आईआईटी इंजीनियरों द्वारा स्थापित स्वयंसेवी संस्था मिशन इंडिया लाइफलाईन की ओर से मंगलवार को दो ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीनें महावीर मन्दिर न्यास को भेंट की गईं। संस्था के प्रतिनिधि गिरिधर झुनझुनवाला ने महावीर मन्दिर न्यास के सचिव आचार्य किशोर कुणाल को अत्याधुनिक सुविधाओं वाली दोनों मशीनें भेंट की। इस अवसर पर इन्द्रपाल सिंह खनूजा, राकेश कश्यप आदि मौजूद थे। आचार्य किशोर कुणाल ने बताया कि महावीर मन्दिर न्यास के पास कुल 15 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीनें उपलब्ध हो चुकी हैं। इनमें दो मशीन महावीर मन्दिर में रिजर्व के रूप में रखी जाएगी। बाकी मशीनों का उपयोग महावीर आरोग्य संस्थान में कोविड मरीजों के इलाज में होगा। उल्लेखनीय है कि महावीर मन्दिर न्यास द्वारा संचालित महावीर आरोग्य संस्थान में सात मई से कोविड मरीजों का इलाज किया जा रहा है।


Find Us on Facebook

Trending News