नाजरथ अस्पताल मोकामा को पूरी क्षमता के साथ संचालित करने के लिए महावीर मंदिर पटना ने की पेशकश

नाजरथ अस्पताल मोकामा को पूरी क्षमता के साथ संचालित करने के लिए महावीर मंदिर पटना ने की पेशकश

LAKHISARAI : आचार्य किशोर कुणाल ने कहा है कि मोकामा का नाजरथ अस्पताल बिहार में चिकित्सा क्षेत्र का गौरव रहा है। इसका पूर्ण क्षमता के साथ संचालित होना ही नाजरथ के गौरव को बढ़ाएगा। अगर नाजरथ अस्पताल मोकामा तैयार हो तो महावीर स्थान न्यास समिति जिस प्रकार से पटना में पांच अस्पताल संचालित कर रहा है उसी तरह नाजरथ मोकामा को चलाने में सहयोग दे सकता है।

महावीर स्थान न्यास समिति पटना ने नाजरथ अस्पताल मोकामा को पूरी क्षमता के साथ संचालित कराने में सहयोग देने की इच्छा प्रकट की है। सोमवार को महावीर मंदिर न्यास के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने ओपन मोकामा नाजरथ अभियान के प्रतिनिधियों कुमार शानू, बासुकीनाथ, चंदन कुमार, प्रिय दर्शन आदि के साथ नाजरथ मोकामा प्रशासिका सिस्टर अंजना से मुलाकात की।

आचार्य किशोर कुणाल ने कहा कि नाजरथ अस्पताल मोकामा बिहार में चिकित्सा सेवा क्षेत्र का दशकों से गौरव रहा है। महावीर मंदिर न्यास चाहता है कि यह गौरव फिर से सिरमौर हो और नाजरथ के सभी बंद विभाग में सेवाएं प्रारंभ हों। करीब 280 बेड वाले नाजरथ अस्पताल को पूर्ण क्षमता के साथ शुरू कराने में न्यास सहयोग करने को तैयार है।

सिस्टर अंजना ने अस्पताल में डॉक्टरों की कमी, उपकरणों की व्यवस्था, मौजूदा इंफ्रास्ट्रक्चर के मरम्मतीकरण की जरूरत आदि की जानकारी दी। किशोर कुणाल ने कहा कि अगर नाजरथ पहल करे तो महावीर स्थान न्यास मोकामा के नाजरथ को पुनर्जीवित करने में सहयोग देगा। गौरतलब है कि महावीर मंदिर न्यास की ओर से बिहार में पांच अस्पताल संचालित हैं।

ट्विटर पर ट्रेंड किया था ओपन मोकामा नाजरथ

100 एकड़ में फैला करीब 280 बेड की क्षमता वाला नाजरथ अस्पताल आजादी के बाद से ही बिहार का सबसे बड़ा निजी अस्पताल रहा है। 1990 के दशक तक यह बिहार के करीब डेढ़ दर्जन जिलों का लाइफ लाइन था। लेकिन अब नाम मात्र की सेवाएं हैं। इसी को लेकर 7 मई को ट्विटर पर ओपन मोकामा नाजरथ पूरी दुनिया में ट्रेंड किया था।

Find Us on Facebook

Trending News