महावीर वात्सल्य अस्पताल में प्री टर्म नीकू वार्ड का हुआ शुभारम्भ, राज्यपाल फागू चौहान ने किया उद्घाटन

महावीर वात्सल्य अस्पताल में प्री टर्म नीकू वार्ड का हुआ शुभारम्भ, राज्यपाल फागू चौहान ने किया उद्घाटन

PATNA : महावीर मन्दिर न्यास द्वारा संचालित महावीर वात्सल्य अस्पताल में बिहार समेत पूर्वी भारत के पहले प्री टर्म NICU (नीकू) का उद्घाटन सोमवार को बिहार के राज्यपाल फागू चौहान ने किया। इस अवसर पर राज्यपाल ने कहा कि समय पूर्व प्रसव से जन्म लेने वाले और कम वजन के बच्चों के लिए प्री टर्म नीकू बहुत उपयोगी होगा। उन्होंने कहा कि महावीर मंदिर से जुड़े अस्पतालों द्वारा मानव सेवा को केंद्र में रखकर चिकित्सा के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किए जा रहे हैं। गरीब एवं लाचार मरीजों के इलाज एवं उचित देखभाल के लिए महावीर अस्पतालों ने अपनी एक अलग पहचान बनाई है। महावीर वात्सल्य अस्पताल, महावीर कैंसर संस्थान, महावीर आरोग्य संस्थान, महावीर नेत्र अस्पताल, महावीर हार्ट हास्पीटल आदि के जरिए मानवता की सेवा का काफी पुनीत कार्य किया जा रहा है। राज्यपाल फागू चौहान ने नवनिर्मित प्री टर्म नीकू वार्ड का निरीक्षण भी किया। इस मौके पर महावीर वात्सल्य अस्पताल के शिशु रोग विभाग के हेड डॉ बिनय रंजन ने बताया कि 18 बेड के इस वार्ड में सभी बेड पर वेंटिलेटर की सुविधा है। जिराफ इन्क्यूबेटर लगाए गए हैं। इनमें समय से पूर्व जन्मे बच्चों को मां के गर्भ जैसी स्थितियां और मानक जैसे तापमान, पोषण आदि दिए जाते हैं। आईवीएफ का चलन बढ़ने से समय पूर्व प्रसव के मामले बढ़े हैं। ऐसे बच्चों को सामान्य बच्चों से अलग विशेष देखभाल के लिए यह वार्ड बना है। 1.5 किलोग्राम से कम वजन के समय पर जन्मे बच्चों को भी उचित पोषण और देखभाल के लिए यहाँ रखा जाएगा।

इस अवसर पर महावीर मन्दिर न्यास के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने कहा कि लाभ को केंद्र में रखकर अस्पताल चलाने की बजाय महावीर मन्दिर द्वारा संचालित अस्पतालों में मानव सेवा के उद्देश्य से कार्य किए जा रहे हैं। महावीर वात्सल्य अस्पताल में बच्चों के लिए पहले से 80 बेड का आईसीयू कार्यरत है। कोरोना की संभावित तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए हाल में 60 बेड का विशेष वार्ड बना है। महावीर वात्सल्य अस्पताल का उद्घाटन 2006 में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया था। नवजात शिशुओं और बच्चों एवं माताओं का गुणवत्तापूर्ण और कम खर्च में इलाज के उद्देश्य से इस अस्पताल को शुरू किया गया। बाद में लोगों की माँग पर 120 बेड का हड्डी, आंख, दंत, चर्म रोग एवं जेनरल मेडिसिन जैसे विभाग खोले गये। हाल में एडवांस लेप्रोस्कोपिक सर्जरी विभाग शुरू किया गया है। इसी परिसर में महावीर हार्ट हाॅस्पीटल के रूप में हृदय रोग का सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल भी अच्छे तरीके से चल रहा है। बच्चों के हृदय में जन्मजात छेद के ऑपरेशन यहाँ हो रहे हैं। 

इसके पूर्व महावीर अस्पतालों के महानिदेशक डॉ एस सी मिश्रा ने स्वागत संबोधन किया। इस अवसर पर महावीर वात्सल्य अस्पताल के शासी निकाय के अध्यक्ष जस्टिस पी के सिन्हा, निदेशक डाॅ एस एन सिन्हा, डॉ लखीन्द्र प्रसाद, डाॅ डीके रमण, ब्लड बैंक प्रभारी डॉ उपेंद्र प्रसाद, डॉ चंदन, डॉ विवेक पांडेय, डॉ आकृति, डॉ अमित, नर्सिंग संस्थान की प्राचार्य डेज़ी रानी आदि मौजूद थे।

Find Us on Facebook

Trending News