AURANGABAD NEWS : मामूली विवाद को लेकर दो पक्षों के बीच जमकर मारपीट, नौ लोग जख्मी

AURANGABAD NEWS : मामूली विवाद को लेकर दो पक्षों के बीच जमकर मारपीट, नौ लोग जख्मी

AURANGABAD : धान के खेत में बकरी के घुस जाने के मामूली विवाद ने दो समुदायों के बीच झड़प का रूप ले लिया। दोनो समुदाय के लोगो के बीच हुई झड़प में दोनो पक्षों के 9 लोग घायल हुए है, जिनका इलाज स्थानीय सरकारी अस्पताल में चल रहा है। इनमे तीन घायलों को बेहतर इलाज के लिए अन्यत्र रेफर किया गया है। मामला औरंगाबाद जिले के गोह प्रखंड के बंदेया थाना के शेखपुरा गांव का है। 

घटना के संबंध में बताया जाता है कि गांव के ही शैलेश प्रसाद और राजेश प्रसाद दोपहर में अपने खेत में पटवन करा रहे थे। इस दौरान जैतिया गांव के कुरैशी परिवार के 5 लोग पास में ही अपनी बकरी चरा रहे थे। मना करने पर कुरैशी परिवार के लोगों ने राजेश एवं शैलेश के साथ मारपीट की। मामला शांत भी हो गया, लेकिन पुन: इसी बात को लेकर कुरैशी परिवार के लोगों ने शेखपुरा मोड़ के पास पुनः राम कुंडल बिंद की पिटाई कर दी। शेखपुरा के सविंदर बिंद एवं धीरज कुमार को भी पीट दिया। इससे तीनों गंभीर रूप से घायल हो गए। इसके बाद दोनो पक्षों के बीच जमकर मारपीट हुई और लाठी-डंडे चले, जिसमें दोनो पक्ष के कुल 9 लोग घायल हो गये। घायलों में प्रथम पक्ष के शेखपुरा गांव के सविंदर बिंद, रुकुंदी गांव के धीरज कुमार, राम कुंडल महतो शैलेश प्रसाद, राजेश प्रसाद तथा दूसरे पक्ष के प्यारे कुरैशी, इम्तियाज कुरैशी, कुन्नू कुरैशी एवं मो. हबीब कुरैशी शामिल है। 

घायलों का इलाज गोह प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में किया गया। जबकि सविंदर, धीरज एवं राम कुंडल की हालत गम्भीर देखते हुए बेहतर इलाज के लिए मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल, गया रेफर किया गया है। घटना के विरोध में आक्रोशित लोगों ने गोह-रफीगंज पथ को शेखपुरा मोड़ के पास लगभग 4 घंटे तक जाम कर आवागमन बाधित रखा। सूचना मिलने पर मौके पर दाउदनगर के अपर अनुमंडल पदाधिकारी प्रियव्रत कुमार, एसडीपीओ राजेश कुमार, रफीगंज के अंचल निरीक्षक पवन कुमार, गोह के सीओ मुकेश कुमार तथा गोह, उपहारा, बंदेया, देवकुंड, ओबरा, रफीगंज, पौथु, दाउदनगर एवं हसपुरा थाना के थानाध्यक्ष सदल बल पहुंचे। ग्रामीणों से वार्ता कर दोषियों पर कार्रवाई का आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने जाम को हटाया। फिलहाल स्थिति सामान्य एवं नियंत्रण में है। मामले में प्रथम पक्ष द्वारा पुलिस को लिखित आवेदन दिया गया है, जबकि दूसरे पक्ष द्वारा कोई आवेदन नही दिया गया है। वही प्रथम पक्ष का आरोप है कि इस मामले में पुलिस ने दूसरे पक्ष को सहयोग किया है।

औरंगाबाद से दीनानाथ मौआर की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News