कोरोना अपडेट देने के लिए बेचैन रहने वाले 'मंगल पांडेय' भी हो गए साइलेंट,क्या अपने प्रधान सचिव को मात देने के लिए बीच-बीच में करते थे ट्वीट?

कोरोना अपडेट देने के लिए बेचैन रहने वाले 'मंगल पांडेय' भी हो गए साइलेंट,क्या अपने प्रधान सचिव को मात देने के लिए बीच-बीच में करते थे ट्वीट?

PATNA: नीतीश सरकार ने कोरोना संकट के बीच स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार का ट्रांसफर कर दिया है।संजय कुमार को स्थानांतरित किए जाने के बाद कई तरह के सवाल खड़े हो गए हैं।अब तक संजय कुमार कोरोना का अपडेट जारी करते थे।स्वास्थ्य प्रधान सचिव की तरफ से यह जिम्मा उठाने के बाद भी बीच-बीच में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय भी टपक जाते थे। वे भी कोरोना पॉजिटिव मरीजों की जानकारी ट्वीट कर देते रहते थे। संजय कुमार के तबादले के बाद करीब 20 घंटों से कोरोना का अपडेट नहीं मिल रहा।वहीं स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय भी अपडेट जारी करने से कन्नी कटा रहे।

मंगल पांडेय की चुप्पी

बिहार में कोरोना पॉजिटिव मरीजों के मिलने का सिलसिला लगातार जारी है।संख्या कहां तक पहुंची इस पर आधिकारिक जानकारी देने के लिए कोई अधिकारी तैयार नहीं है। अधिकारी की तो बात छोड़िए बात-बात पर ट्वीट करने वाले स्वास्थ्य मंत्री भी चुप हैं।वही स्वास्थ्य मंत्री जो कभी स्वास्थ्य प्रधान सचिव संजय कुमार द्वारा कोरोना अपडेट देने के बाद भी बीच-बीच में कूद पड़ते थे और पॉजिटिव मरीजों की संख्या जारी करते थे। मंगल पांडेय द्वारा पॉजिटिव मरीजों की सूची जारी करने के बाद आंकड़ों को लेकर कंफ्यूजन भी हुआ था। संजय कुमार के तबादले के बाद अब स्वास्थ्य मंत्री भी पॉजिटिव मरीजों की सूची जारी नहीं कर रहे।

आप अमंगल तो थे हीं बेईमान भी निकले

संजय कुमार के तबादले को लेकर सबसे अधिक चर्चा में मंगल पांडेय हैं।चर्चा यही है कि स्वास्थ्य प्रधान सचिव संजय कुमार को साजिश के तहत हटा दिया गया है। बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव ने स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय पर बड़ा हमला बोला है।उन्होंने ट्वीट कर बिना नाम लिए ही अटैक किया है ।तेज प्रताप यादव का सीधा इशारा स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे की तरफ है।  उन्हें अपने ट्वीट में लिखा है कि सच्चे और झूठे का स्कोर मैच नहीं कर रहा था, इसलिए तो साहब ने बीच मैच में ही कैप्टन चेंज कर दिया।  इसके बाद तेज प्रताप ने आगे लिखा है कि अमंगल तो थे ही बेईमान भी निकले।

संजय कुमार के जाने के बाद अपडेट भी चला गया

स्वास्थ्य प्रधान सचिव संजय कुमार के स्थानांतरण के बाद  सबसे बड़ी बात यह कि,अब स्वास्थ्य विभाग की तरफ से कोरोना का कोई अपडेट नहीं मिल रहा। बुधवार को जब सरकार ने संजय को स्वास्थ्य प्रधान सचिव के पद से स्थानांतरित किया है उसके बाद स्वास्थ्य विभाग की तरफ से कोई अपडेट जारी नहीं किया गया।बुधवार शाम को राज्य स्वास्थ्य समिति की तरफ से हर दिन शाम में जारी किया जाने वाला अपडेट हीं सिर्फ जारी की गई है।

बुधवार को संजय कुमार के स्थानांतरण के बाद भी बिहार में कई कोरोना के मरीज मिले हैं।लेकिन विभाग की तरफ से कोई जानकारी नहीं दी गई।बुधवार को कोरोना से एक मरीज की मौत भी हुई उसकी जानकारी भी शेयर नहीं किया गया।हर दिन सुबह 10 बजे का अपडेट जो 11 बजे स्वास्थ्य प्रधान सचिव जारी करते थे।वह भी जारी नहीं की गई है।इस तरह कोरोना को लेकर पूरा कंफ्यूजन पैदा हो गया है।

बिहार के लोग सोशल मीडिया पर सवाल पूछ रहे हैं कि क्या कोरोना अपडेट को लगातार पब्लिक डोमेन में लाकर संजय कुमार ने गलती कर दी?अब उके जाने के बाद भी स्वास्थ्य महकमे को तो जानकारी सार्वजनिक करनी चाहिए थी।लेकिन ऐसा हो क्यों नहीं रहा?बिहार के लोग यह भई कहने लगे कि संजय कुमार के जाने के बाद कोरोना अपडेट भी चला गया।


Find Us on Facebook

Trending News