मांझी की उपेन्द्र कुशवाहा और मुकेश सहनी से ठन गई है, 11 मार्च को पूर्व सीएम ले सकते हैं बड़ा फैसला

मांझी की उपेन्द्र कुशवाहा और मुकेश सहनी से ठन गई है, 11 मार्च को पूर्व सीएम ले सकते हैं बड़ा फैसला

न्यूज4नेशन डेस्क- महागठबंधन में सीट बंटवारे को लेकर किचकिच कम होने का नाम नहीं ले रही है. कभी केन्द्र की मोदी सरकार को हराने के कुर्बानियों की हर इतंहा पार करने का दम भरने वाले मांझी अब कॉम्प्रोमाइज करने के मूड में नहीं है.

उपेन्द्र कुशवाहा की रालोसपा और मुकेश सहनी की वीआईपी पार्टी से मांझी को कम से कम 1 सीट ज्यादा चाहिए. मांझी ने साफ कह दिया है कि बिहार में उनकी जनता के बीच पकड़ इन दोनों पार्टी से ज्यादा है. मांझी ने इस मसले पर लालू यादव से भी मुलाकात कर चुके हैं. लेकिन ऐसी चर्चा है कि लालू दरबार को उनको वो आश्वासन नहीं मिला है जो वो चाहते थे.

मांझी ने इस बाबत पूर्व सीएम राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव से भी मुलाकात की है.लेकिन खबर ऐसी है कि मांझी की बात यहां भी नहीं बन पाई है. ऐसे में मांझी अब अपने पत्ते को संभाल कर रखना चाहते हैं. हमपार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बीएल वैश्यन्त्री कहते हैं वे अपनी मांग पर अडिग हैं. उन्‍हें राष्‍ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) और विकासशील इंसान पार्टी (वीआइपी) से हमें कम से कम एक सीट अधिक चाहिए. इसपर अंतिम सहमति नौ से 11 मार्च की प्रस्तावित महागठबंधन की बैठक में बनेगी. उन्‍होंने कहा कि बैठक के नतीजों के आधार पर उनकी पार्टी आगे की रणनीति तय करेगी. बीएल वैश्यन्त्री कहते हैं कि यदि संतोषजनक सीटें नहीं मिलती हैं तो राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक कर पार्टी आगे की रणनीति सार्वजनिक करेगी.

Find Us on Facebook

Trending News