मांझी की बेबाकी : आजम खां के बहाने सेक्स की नयी परिभाषा दे रहे जीतनराम मांझी

मांझी की बेबाकी : आजम खां के बहाने सेक्स की नयी परिभाषा दे रहे जीतनराम मांझी

GAYA : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी अपने बेबाक बयानों के लिए जाने जाते हैं. हर मसले पर वे बेपरवाह होकर कोई टिपण्णी करते हैं. इसी कड़ी में कभी-कभी उनकी जबान भी फिसल जाती है. आजकल बिहार के अलग-अलग जिलों में घूमकर वे लगातार सेक्स दर्शन पर प्रवचन दे रहे हैं. बहाना है सपा संसद आजम खां के बचाव का. लेकिन लोगों को वे सेक्स की नयी परिभाषा बताते फिर रहे हैं.

दरअसल नवादा में कल जीतनराम मांझी से जब पत्रकारों ने आजम खान के बयान पर प्रतिक्रिया मांगी. तब उन्होंने  कहा है कि जवान भाई और बहन एक दूसरे को आलिंगन करते हैं, चुम्मा देते है, तो क्या ये सेक्स है. मां चुम्मा लेती है बेटा को और बेटा चुम्मा लेता है अपनी मां को, तो ये सेक्स है क्या.

आज जीतनराम मांझी गया जिले के दौरे पर हैं. वहाँ जब पत्रकारों ने उनसे आजम खां के विवादित टिपण्णी पर प्रतिक्रिया देने को कहा तो फिर उन्होंने सेक्स की नयी परिभाषा दे दी. इस मामले को उन्होंने उदहारण के साथ समझाया. उन्होंने कहा की एक बार रामाश्रय प्रसाद सिंह बिहार के मंत्री थे. जीतनराम मांझी ने कहा की वे विधायक के तौर पर जीत कर आये थे. किसी काम से खुश होकर रामाश्रय प्रसाद सिंह ने उनका गाल छू लिया था. उन्होंने फिर पत्रकारों से पूछा की इसे सेक्स कहते हैं क्या. 

आजम खां पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा की उन्होंने किसी गलत भावना से टिपण्णी नहीं किया था. फिर भी लोगों की भावना आहत हुई है तो उन्हें संसद में माफ़ी मांग लेनी चाहिए. 

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News