मांझी का नीतीश को सुझाव, बिहार में लागू हो शराबबंदी का गुजरात मॉडल

मांझी का नीतीश को सुझाव, बिहार में लागू हो शराबबंदी का गुजरात मॉडल

मुजफ्फरपुर. पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने बिहार में शराबबंदी कानून की समीक्षा की मांग करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से गुजरात की तर्ज पर बिहार में शराबबंदी कानून लागू करने का सुझाव दिया है. उन्होंने बिहार में शराबबंदी कानून की खामियां गिनाई.

उन्होंने नीतीश कुमार से मांग की है कि बिहार में गुजरात मॉडल की तरह शराबबंदी लागू की जाए. उन्होंने कहा, 'महात्मा गांधी के गुजरात में सबसे पहले शराबबंदी लागू हुई थी. वहां का मॉडल ठीक है. वहां शराब को लेकर सख्ती भी है और राज्य में पीने वालों के लिए कुछ विशेष नियम भी बने हैं. उसी तर्ज पर बिहार में भी शराबबंदी लागू करने की जरूरत है. गुजरात मॉडल ही बिहार में लागू किया जाए. मांझी ने कहा कि शराब को लेकर एक कानून यह भी है कि कोई भी शख्स पीकर अगर किसी सार्वजनिक स्थान पर जाए, वहां हंगामा करे तो उसको गिरफ्तार किया जाए. मांझी ने कहा कि चाहे तो बिहार सरकार इस कानून को भी इस्तेमाल कर सकती है. उन्होंने शराबबंदी के कारण आम लोगों को हो रही परेशानियों और कोर्ट कचहरी के चक्कर का जिक्र किया. 


मांझी ने कहा कि शराबबंदी के कार्रवाई में भेदभाव किया जा रहा है. शराबबंदी से गरीबों को परेशानी हो रही है. वहीं रसूखदार लोगों पर पुलिस कोई कार्रवाई नहीं करती है. उन्होंने शराब से संबंधित मामलों में पुलिस की छापेमारी को भेदभावपूर्ण करार दिया. मांझी ने बिना किसी का नाम लिए कहा कि कई ऐसे मामले सामने आ चुके हैं जिसमें पुलिस ने भेदभावपूर्ण तरीके से कार्रवाई की. उन्होंने एक बार फिर से दोहराया कि शराब को दवा की भांति इस्तेमाल किया जा सकता है. दो दिन पूर्व भी मांझी ने इसी तरह राज्य में शराबबंदी को लेकर नीतीश सरकार पर हमला किया था. उन्होंने इस कानून को गरीबों का शोषण करने वाला करार दिया था. 


Find Us on Facebook

Trending News