किसान बिल को लेकर मनोज तिवारी का दावा, ऐसा नहीं हुआ तो राजनीति छोड़ दूंगा...

किसान बिल को लेकर मनोज तिवारी का दावा, ऐसा नहीं हुआ तो राजनीति छोड़ दूंगा...

KAIMUR : किसान बिल के कारण 2 साल में किसानों के घर मोदी की फोटो अगर नहीं लगी तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा. यह बात दिल्ली के बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने कैमूर में कहा. कैमूर जिले के मोहनिया पहुंचे दिल्ली के बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने किसानों के विरोध को लेकर कहा की सरकार ने कृषि बिल लाकर ऐतिहासिक फैसला लिया है. जिसमें किसान के अनाज को उचित मूल्य पर खरीदा जाएगा. सबको पता है कि इतना दिन तक एमएसपी तय होने के बाद भी उचित मूल्य नहीं मिलता था, क्योंकि बिचौलिए ज्यादा हावी थे.  

किसानों के साथ हमारी भी मां परेशान है कि सरकार अट्ठारह सौ पैसठ रुपया समर्थन मूल्य धान का तय की है. लेकिन बिचौलियों के कारण 12 सौ रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से धान बिक रहा है. इसी को दूर करने के लिए कृषि बिल आया है. किसान के दु:ख का यह आखिरी साल है. उसके बाद वाले साल में ही फसल का मूल्य तय हो जाएगा. लोगों को भी बिचौलिए के चक्कर में नहीं फंसना पड़ेगा. हम खुद चाहते हैं कि इस जिले में वेयरहाउस खुले, जहां सभी किसानों का धान खरीदा जाए और वहां से सरकार एमएसपी के रेट में धान खरीद लेगी. 

हम जिले के सक्षम लोगों से अपील करना चाहते हैं कि आप वेयरहाउस खोलें और किसानों के अनाजों को खरीदें और आपके वेयरहाउस से एमएसपी मूल्य पर सरकार ले जाएगी. इसमें विरोध क्या करना है किसी को. जब किसान इतने दिन तक परेशान था. उसका उचित मूल्य मिलने जा रहा है तो विरोध क्या करना. दो-तीन साल अगर बीत जाता है. उसके बाद काम नहीं होता है तो विरोध होता तो समझ में आता. हम सबको हाथ जोड़कर प्रार्थना करना चाहते हैं कि क्या आप प्रधानमंत्री को पहचाने नहीं है. प्रधानमन्त्री सबका भला करना चाहते हैं. हमारा सभी राजनीतिक पार्टी से हाथ जोड़कर निवेदन है कि राजनीतिक फायदा में किसानों का नुकसान नहीं पहुंचाया जाए. आप 2 साल का समय दें. उसके अंदर सारी प्रक्रिया शुरू हो जाएगी. यह अधिकतम समय है. किसान बिल के अच्छाई को लेकर अगर हर किसान के घर में नरेंद्र मोदी का फोटो नहीं लग गया तो मनोज तिवारी राजनीति छोड़ देगा. 

कैमूर से देवब्रत की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News